एनडी पाटिल महाराष्ट्र की जनता से सीधे जुड़े थे: शरद पवार

मुंबई, 17 जनवरी (हि.स.)। राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष शरद पवार ने कहा कि प्राध्यापक एनडी पाटिल पिछले 7 दशकों से महाराष्ट्र की जनता के साथ जुड़े थे। उम्र के 92 वर्ष के पड़ाव पर भी वे सामाजिक कार्यों से जुड़े रहे। उनके निधन से राज्य की राजनीतिक, सामाजिक क्षेत्र में अपूरणीय क्षति हुई है, जिसे भर पाना मुश्किल ही है।

शरद पवार ने अपने शोक संदेश में कहा कि एनडी पाटिल हमेशा मेहनती, किसान, मजदूर वर्ग की समस्याओं को विधानसभा में उठाते रहते थे। उन्होंने इस वर्ग के लिए आजीवन संघर्ष किया। एनडी पाटिल ने शेतकारी कामगार पक्ष का सफलता पूर्वक नेतृत्व किया। साथ ही वे आम जनता की समस्याओं के सच्चे वाहक बने रहे ।

राज्यपाल भगतसिंह कोश्यारी ने अपने शोक संदेश में कहा कि एनडी पाटिल सामान्य जनता, मेहनती , किसान व मजदूर वर्ग के लिए काम करने वाले आक्रामक नेता थे। किसी भी समस्या को वे प्रभावी तरीके से पेश करते थे और इस वर्ग को न्याय दिलाते थे। शिक्षा क्षेत्र में उन्होंने महत्वपूर्ण काम किया था और वे एक उत्तम विधायक थे। उनके निधन से हमने एक प्रामाणिक लोकनेता को खो दिया है।

उपमुख्यमंत्री अजीत पवार ने अपने शोक संदेश में कहा कि एनडी पाटिल आजीवन राज्य की सामान्य जनता के लिए संघर्ष करते रहे। उनके निधन से किसान, मजदूर, दुर्बल , वंचित व उपेक्षित वर्ग के लिए लड़ऩेवाला नेतृत्व खो गया है। एनडी पाटिल के निधन पर गृहनिर्माण मंत्री जीतेंद्र आव्हाड, विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष देवेंद्र फडणवीस, पूर्व मंत्री पंकजा मुंडे, ग्रामविकास मंत्री हसन मुश्रीफ, सांसद सुप्रिया सुले सहित अन्य कई नेताओं ने श्रद्धांजलि अर्पित की है।