सड़क सुरक्षा के लिए चलेगा नियमित जांच अभियान

सड़क सुरक्षा के लिए चलेगा नियमित जांच अभियान

बेगूसराय, 27 मार्च । सड़क सुरक्षा के लिए हेलमेट, सील्ट बेल्ट, ओवरस्पीडिंग एवं रश ड्राइविंग आदि पर रोक लगाने के उद्देश्य से अब नियमित सघन जांच अभियान चलेगा। यह निर्देश डीएम अरविन्द कुमार वर्मा ने जिला सड़क सुरक्षा समिति की त्रैमासिक बैठक में दिया। इस मौके पर एसपी अवकाश कुमार, जिला परिवहन पदाधिकारी श्रीप्रकाश, डीपीओ-माध्यमिक शिक्षा राजकमल कुमार समेत यातायात पुलिस उपाधीक्षक, मोटरयान निरीक्षक एवं एनएचआई के प्रतिनिधि मौजूद थे।

बैठक में डीएम ने सघन जांच अभियान चलाने के साथ ट्रैक्टर, ट्रॉली आदि वाहनों में परावर्तक टेप लगवाने एवं सड़क किनारे मकानों, पेड़ों, पुल-पुलिया पर कैट्स आई एवं परावर्तक प्लेट्स अधिष्ठापित करने का निर्देश दिया। उन्होंने पथ निर्माण विभाग के कार्यपालक अभियंता को चिन्हित स्थल पर विस्तृत फ्लैंक के निर्माण, स्पीड ब्रेकर स्थापित करने के साथ दुर्घटना स्थल के आसपास पेड़ की टहनियों को कटवाने के संबंध में भी निर्देश दिया।

राष्ट्रीय राजमार्ग से सीधे कनेक्ट होने वाले ग्रामीण कार्य विभागों की सड़कों पर भी आवश्यकतानुसार स्पीड ब्रेकर लगाने का निर्देश दिया। डीएम ने हर-हर महादेव चौक, जीरोमाईल-बीहट के बीच फोरलेन पर बने डिवाइडर को अवैध तरीके से काटने वालों तथा राष्ट्रीय राजमार्ग (एनएच) के विभिन्न हिस्सों में किए गए अतिक्रमणकारियों के विरुद्ध आवश्यक कार्रवाई के लिए एनएचएआई प्रतिनिधि को निर्देश दिया। साथ ही जिला परिवहन पदाधिकारी को बस सहित विभिन्न वाहनों के चालकों के लिए नियमित आंख जांच शिविर लगाने का भी निर्देश दिया।

बैठक में एसपी ने राष्ट्रीय एवं राजकीय मापदंडों के अनुरूप ब्लैक स्पॉट एवं दुर्घटना स्थलों के संबंध में जानकारी प्राप्त की तथा आवश्यक निर्देश दिया। एसपी ने सड़क दुर्घटना में घायल एवं मृत हुए व्यक्ति के संबंध में थानों की भूमिका पर भी यातायात पुलिस अधीक्षक एवं अन्य संबंधित पदाधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिया। जिला परिवहन पदाधिकारी ने बताया कि दो ब्लैक स्पॉट से संबंधित सड़क पर सुधारात्मक एवं निरोधात्मक कार्य के लिए बीहट चांदनी चौक एवं हर-हर महादेव चौक पर ब्लैक स्पॉट साइनेज बोर्ड, स्पीड लिमिट साइनेज बोर्ड लगाए गए हैं। इन स्थलों पर जेब्रा क्रॉसिंग भी पेंट किया गया है।

उन्होंने बताया कि जिले के विभिन्न हिस्सों में हेलमेट, सील्ट बेल्ट आदि का लगातार जांच हो रही है। वर्तमान वित्तीय वर्ष में पुलिस थानों ने 01 करोड़ 73 लाख 45 हजार 05 सौ रुपये तथा परिवहन विभाग ने जांच एवं ओवरलोडिंग में 06 करोड़ 05 लाख 05 हजार 66 रुपये जुर्माना वसूल किया है। खतरनाक ड्राईविंग करने वाले तीन चालकों के विरुद्ध कार्रवाई करते हुए अनुज्ञप्ति निलंबित किया गया है। सड़क सुरक्षा के संबंध में जागरुकता प्रसार के लिए शिक्षा विभाग आदि के सहयोग से विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन होता है।