सीयूएसबी से निकलेंगे प्रतिभावान खिलाड़ी:कुलपति प्रो.केएन सिंह

गया, 22 जून । अकादमिक उत्कृष्टता के मार्ग पर अग्रसर दक्षिण बिहार केन्द्रीय विश्वविद्यालय (सीयूएसबी) के साथ गुणवत्तापूर्ण पठन-पाठन के साथ पाठ्यचर्या में बुधवार को एक नई उपलब्धि जुड़ गई। कुलपति ने मिल्खा सिंह खेल परिसर में नवनिर्मित बास्केटबॉल एवं वॉलीबॉल कोर्ट का उद्धघाटन करते हुए इसे विद्यार्थियों को समर्पित कर दिया। कुलसचिव कर्नल राजीव कुमार सिंह, छात्र कल्याण अधिष्ठाता (डीएसडब्लू) प्रो० पवन कुमार मिश्रा, डॉ० जितेन्द्र प्रताप सिंह, सहायक निदेशक, शारीरिक शिक्षा, कल्याण साहा (कार्यपालक अभियंता) के साथ विभिन्न विभागों के प्राध्यापकगण, अधिकारीगण, कर्मचारीगण एवं विद्यार्थीगण मौजूद थे।

शारीरिक शिक्षा विभाग की सह प्राध्यापिका डॉ० उषा तिवारी ने खेलकूद की सुविधाओं में बढ़ोतरी के लिए निरंतर दिए जा रहे प्रशासनिक सहयोग के लिए कुलपति के प्रति आभार प्रकट किया। डॉ जितेन्द्र प्रताप सिंह, सहायक निदेशक, शारीरिक शिक्षा ने खेल परिसर में उपलब्ध संसाधनों की सम्पूर्ण जानकारी प्रदान की ।

कुलपति प्रो के एन सिंह ने खेलों की आवश्यकता पर प्रकाश डालते हुए डब्लूएचओ (वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन) के जून 2022 के रिपोर्ट का जिक्र करते हुए बताया कि वर्तमान में विश्व का हर आठवां व्यक्ति किसी न किसी प्रकार की मानसिक व्याधि से ग्रसित है। उन्होंने कहा कि ये बड़ा ही गंभीर विषय है और ऐसे में मात्र खेल एवं योग ही ऐसे माध्यम है। जिसके द्वारा हम सभी शारीरिक और मानसिक रूप से मजबूत बन सकते है। कुलपति ने समारोहस्थल पर मौजूद सभी लोगो से आग्रह किया कि वे प्रतिदिन कम से कम एक घंटे अपनी रूचि के अनुसार कोई खेल अवश्य खेले तथा दुसरो को भी प्रोत्साहित करे। साथ ही उन्होंने कहा कि किसी भी शैक्षणिक संस्था में जितना महत्व वहाँ उपलब्ध सुसज्जित कक्षाओं, प्रयोगशालाओं तथा पुस्तकालय का होता है उतना ही महत्व खेल के मैदानों का भी है। कुलपति ने कार्यक्रम के सफलता हेतु स्पोर्ट्स कमिटी की सराहना की तथा निर्देशित भी किया की छात्रों को हर संभव सुविधाएं एवं संसाधन उपलब्ध करवाए जाएं।

इस अवसर पर एक फ्रेंडली वॉलीबॉल मैच का आयोजन भी किया गया। जिसमें निर्णायक की भूमिका शोध छात्र कुणाल सेठी एवं षष्ठी मंडल, शारीरिक शिक्षा विभाग ने निभाया।