आखिरी कारोबारी दिन भी सोने में गिरावट

आखिरी कारोबारी दिन भी सोने में गिरावट

नई दिल्ली, 31 मार्च । अंतरराष्ट्रीय बाजार में आई नरमी के कारण बुधवार को एमसीएक्स एक्सचेंज में सोने-चांदी की कीमत में गिरावट का रुख बना रहा। कीमत में आई गिरावट के कारण वित्त वर्ष 2020-21 के आखिरी कारोबारी दिन गिरकर एक साल के निचले स्तर पर पहुंच गया। बुधवार को पांचवें कारोबारी सत्र में सोने की कीमतों में गिरावट दर्ज की गई। इसी तरह चांदी की कीमतों में भी गिरावट का रुख जारी है।

आज शुरुआती कारोबार में एमसीएक्स पर जून डिलीवरी वाला सोना वायदा 0.3 फीसदी गिरकर एक साल के निचले स्तर 44300 रुपये प्रति दस ग्राम पर आ गया। चांदी 0.8 फीसदी घटकर 62617 प्रति किलोग्राम के स्तर पर आ गई। इसके पिछले कारोबारी सत्र में सोने में 0.5 फीसदी की गिरावट आई थी, जबकि चांदी 1.7 फीसदी नीचे लुढ़क गई थी। अंतरराष्ट्रीय बाजार में भी सोने में गिरावट का रुख बना रहा। आज हाजिर सोना 0.1 फीसदी घटकर 1683.56 डॉलर प्रति औंस पर कारोबार कर रहा था।

जानकारों का कहना है कि चीन में औद्योगिक उत्पादन के आंकड़े बेहतर रहने से सोने पर दबाव बढ़ गया है। इस बीच दुनिया के सबसे बड़े गोल्ड एक्सचेंज ट्रेडेड एसपीडीआर गोल्ड ट्रस्ट की होल्डिंग सोमवार को 0.1 फीसदी बढ़कर 1037.50 टन हो गई। होल्डिंग बढ़ने का असर भी सोने पर बने दबाव के रूप में नजर आ रहा है।

आंकड़ों को देखें तो इस साल अमेरिकी बॉन्ड की यील्ड में सुधार और डॉलर में मजबूती के चलते वैश्विक बाजारों में सोना लगभग 10 फीसदी नीचे लुढ़क चुका है। एमसीएक्स पर रिकॉर्ड ऊंचाई से सोने के दाम करीब 12000 रुपये प्रति दस ग्राम तक नीचे गिर चुके हैं। पिछले साल अगस्त में सोने का भाव 56200 रुपये प्रति दस ग्राम की रिकॉर्ड ऊंचाई पर पहुंच गया था लेकिन आज दिल्ली सर्राफा बाजार में हाजिर सोना 44113 रुपये प्रति दस ग्राम की कीमत पर कारोबार कर रहा था। साफ है कि अगस्त 2020 से अभी तक सोने की कीमत में 12087 प्रति दस ग्राम की गिरावट दर्ज की जा चुकी है।