पूमरे का पटना जंक्शन आय देने के मामले में टॉप पर, दूसरे स्थान पर दानापुर

पूमरे का पटना जंक्शन आय देने के मामले में टॉप पर, दूसरे स्थान पर दानापुर

गोविन्द चौधरी

पटना, 04 जून । पूर्व मध्य रेल (पूमरे) ने वित्त वर्ष 2020-21 की अपनी आर्थिक रिपोर्ट शुक्रवार को सार्वजनिक की है। रिपोर्ट के मुताबिक टॉप 30 स्टेशनों की सूची में पटना सबसे अधिक आय देने के मामले में पहले पायदान पर और दानापुर दूसरे नंबर पर हैं। तीसरे नंबर पर मुजफ्फरपुर जंक्शन है। चौथे स्थान पर पंडित दीनदयाल उपाध्याय (मुगलसराय), पांचवें पर दरभंगा, छठे पर गया, पाटलिपुत्र सातवें और राजेंद्रनगर टर्मिनल आठवें स्थान पर है।

समस्तीपुर जंक्शन से एक पायदान आगे नौवें स्थान पर धनबाद जंक्शन है। ग्यारहवें स्थान पर बक्सर और 12वें पर गया जंक्शन है। 13वें पर सहरसा उसके बाद बरौनी, फिर हाजीपुर, सोनपुर, कोडरमा, बेतिया, बापूधाम मोतिहारी, राजगीर, सासाराम, डेहरी ऑन सोन और कियूल जंक्शन है। कियूल के बाद 24 वें स्थान पर खगड़िया, फिर मधुबनी, नरकटियागंज, बगहा, रक्सौल और जयनगर स्टेशन है।सबसे अधिक राजस्व वाले टॉप 30 स्टेशनों की सूची में सबसे नीचे नाम बेगूसराय का है।

पूर्व मध्य रेल ने 01 अप्रैल, 2020 से 31 मार्च, 2021 तक एक साल के यात्री संख्या और उससे प्राप्त राजस्व को आधार बनाते हुए अधिक राजस्व वाले टॉप 30 स्टेशनों की सूची तैयार की है। सबसे अधिक राजस्व हासिल करने की सूची में टॉप पर जंक्शन पटना का साल भर में प्राप्त राजस्व 250 करोड़ 76 लाख 67 हजार 565 रुपये रहा। यहां की यात्री संख्या 63 लाख पांच हजार 145 रही। टॉप 30 में सबसे नीचे स्थान वाले बेगूसराय स्टेशन से चार लाख 50 हजार 399 टिकट कटने से सात करोड़ 38 लाख 83 हजार 578 रुपये राजस्व मिले।

दानापुर जंक्शन से 160 करोड़ 55 लाख 71 हजार 524 रुपये, मुजफ्फरपुर से 91 करोड़ 52 लाख 62 हजार 565 और दरभंगा से 71 करोड़ 56 लाख 31 हजार 774 रुपये राजस्व मिले। समस्तीपुर से 39 करोड़ 94 लाख 80 हजार 139 रुपये, बरौनी से 26 करोड़ 71 लाख 70 हजार 699, हाजीपुर से 19 करोड़ 90 लाख 97 हजार 233, कियूल से 9 करोड़ 44 लाख 6 हजार 30, मधुबनी से 8 करोड़ 63 लाख 61 हजार 81 रुपये राजस्व मिला। जयनगर से सात करोड़ 54 लाख 68 हजार 98 और खगड़िया से नौ करोड़ 62 लाख छह हजार 938 रुपये राजस्व प्राप्त हुआ।