बिकवाली के दबाव में शेयर बाजार में भारी गिरावट, सेंसेक्स 1,386 अंक तक लुढ़का

बिकवाली के दबाव में शेयर बाजार में भारी गिरावट, सेंसेक्स 1,386 अंक तक लुढ़का

नई दिल्ली, 12 मई। निगेटिव ग्लोबल सेंटीमेंट्स के कारण घरेलू शेयर बाजार में आज लगातार बिकवाली का जोर बना रहा। दिनभर के कारोबार में ज्यादातर समय मंदड़िये हावी रहे, इस कारण चौतरफा बिकवाली का रुझान बना रहा। बिकवाली के दबाव की वजह से बीएसई का सेंसेक्स 1,386 अंक से भी ज्यादा लुढ़क गया। इसी तरह निफ्टी में भी 430 अंक से अधिक की गिरावट दर्ज की गई। हालांकि आखिरी वक्त में हुए इंट्रा-डे सेटेलमेंट के कारण हुई लिवाली से शेयर बाजार को थोड़ा सपोर्ट मिला। इस सपोर्ट के बावजूद बाजार 2 प्रतिशत से अधिक टूटकर बंद हुआ।

आज दिन भर के कारोबार में हुई बिकवाली के कारण शेयर बाजार पिछले 9 हफ्ते के निचले स्तर पर पहुंच कर बंद हुआ। वहीं निफ्टी में आज पिछले 10 हफ्ते की सबसे बड़ी इंट्रा-डे गिरावट दर्ज की गई। आज के कारोबार में बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज के सभी इंडेक्सों में बिकवाली का दबाव बना रहा। विशेष रुप से रियल्टी सेक्टर और तेल तथा गैस के शेयरों में जोरदार दबाव बना रहा।

बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) के सेंसेक्स ने आज निगेटिव ग्लोबल सेंटिमेंट्स के बीच 480.04 अंक की कमजोरी के साथ 53,608.35 अंक के स्तर से कारोबार की शुरुआत की। बाजार खुलते ही मंदड़ियों ने कारोबार पर अपना कब्जा कर लिया, जिसके कारण चौतरफा बिकवाली शुरू हो गई। हालांकि बीच-बीच में मामूली खरीदारी भी होती रही, लेकिन बिकवाली का दबाव लगातार बना रहा।

इस चौतरफा बिकवाली के कारण शुरुआती आधे घंटे के कारोबार में ही सेंसेक्स 1,040.64 अंक टूटकर 53,047.75 अंक के स्तर पर आ गया। हालांकि इसके बाद घरेलू संस्थागत निवेशकों (डीआईआई) ने बाजार को सपोर्ट देने के लिए तेज खरीदारी शुरू कर दी। लगातार हो रही बिकवाली के बीच घरेलू संस्थागत निवेशकों की खरीदारी से सेंसेक्स को काफी सपोर्ट मिला और ये सूचकांक धीरे धीरे ऊपर की ओर चढ़ने लगा। लेकिन खरीदारी का ये सपोर्ट अधिक देर तक बना नहीं रह सका। सुबह 10:30 बजे के बाद एक बार फिर बाजार में तेज बिकवाली शुरू हो गई, जिसके कारण सेंसेक्स दोबारा नीचे की ओर से फिसलने लगा।

हालांकि बीच-बीच में घरेलू संस्थागत निवेशक खरीदारी का जोर लगाकर बाजार को संभालने की कोशिश करते रहे, लेकिन विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों ने बिकवाली का इतना जबरदस्त दबाव बना दिया था कि सेंसेक्स संभल नहीं सका। लगातार हो रही बिकवाली के कारण दोपहर 2:30 बजे ये सूचकांक 1,386.09 अंक टूट कर आज के सबसे निचले स्तर 52,702.30 अंक तक पहुंच गया। हालांकि इसके बाद इंट्रा-डे सेटेलमेंट के कारण हुई खरीदारी से सेंसेक्स को कुछ सहारा मिला और इस सूचकांक ने 2.14 प्रतिशत की गिरावट के साथ 1,158.08 अंक लुढ़ककर 52,930.31 अंक के स्तर पर आज के कारोबार का अंत किया।

सेंसेक्स की तरह ही नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) के निफ्टी ने आज 146 अंक टूटकर 16,021.10 अंक के स्तर से कारोबार की शुरुआत की। शुरुआती आधे घंटे के कारोबार में ही चौतरफा हो रही बिकवाली के दबाव के कारण निफ्टी 319 अंक का गोता लगाकर 15,848.10 अंक के स्तर पर पहुंच गया। हालांकि शेयर बाजार में इस बिकवाली के दौरान भी हल्की फुल्की खरीदारी होती रही, लेकिन विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों ने अपना पैसा निकालने के लिए बिकवाली का दबाव इतना ज्यादा बढ़ा दिया था कि हल्की फुल्की खरीदारी के बावजूद निफ्टी लगातार गिरता चला गया।

शुरुआती आधे घंटे तक हुई चौतरफा बिकवाली के बाद घरेलू संस्थागत निवेशकों ने एक्टिव होकर तेज खरीदारी शुरू कर दी, जिससे बाजार को काफी सहारा मिला। इस खरीदारी के सपोर्ट से निफ्टी भी रिकवर करता हुआ नजर आने लगा। लेकिन सुबह 10:30 बजे के बाद विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों ने दोबारा जोरदार बिकवाली का दबाव बनाकर निफ्टी को संभलने नहीं दिया।

चौतरफा बिकवाली के कारण निफ्टी में लगातार गिरावट का रुख बना रहा और दोपहर 2:30 बजे के करीब ये सूचकांक 431.35 अंक का गोता लगाकर आज के सबसे निचले स्तर 15,735.75 अंक तक लुढ़क गया। हालांकि इस गिरावट के बाद घरेलू संस्थागत निवेशकों ने एक बार फिर खरीदारी का जोर लगाया। इसके साथ ही दिन के सौदों के निपटारे के कारण भी कुछ खरीदारी हुई, जिससे निफ्टी आज के सबसे निचले स्तर से मामूली रिकवरी करके 359.10 अंक की कमजोरी के साथ 15,808 अंक के स्तर पर बंद हुआ।

आज दिन भर के कारोबार में सेंसेक्स में शामिल 30 शेयरों में से 28 शेयर बिकवाली के दबाव में फंस कर लाल निशान में बंद हुए, जबकि सिर्फ 2 शेयर खरीदारी के सपोर्ट से हरे निशान में बंद हुए। इसी तरह निफ्टी में शामिल 50 शेयरों में से 48 शेयर गिरावट के साथ लाल निशान में बंद हुए, जबकि 2 शेयर लिवाली के समर्थन से मुनाफा कमा कर हरे निशान में बंद हुए।

बाजार में बिकवाली के दबाव के कारण बीएसई के मिडकैप और स्मॉलकैप इंडेक्स में भी गिरावट का रुख बना रहा। मिडकैप इंडेक्स 495.84 अंक की गिरावट के साथ 21,645.13 अंक के स्तर पर बंद हुआ, जबकि स्मॉलकैप इंडेक्स में 500.41 अंक की गिरावट आई और इस इंडेक्स ने 24,995.51 अंक के स्तर पर आज के कारोबार का अंत किया।

दिन भर की खरीद बिक्री के बाद दिग्गज शेयरों में से सिर्फ विप्रो 0.40 प्रतिशत की तेजी के साथ आज के टॉप गेनर की सूची में अपना स्थान बना सका। दूसरी ओर अडाणी पोर्ट्स 6.13 प्रतिशत, इंडसइंड बैंक 5.79 प्रतिशत, टाटा स्टील 4.12 प्रतिशत, टाटा मोटर्स 4.08 प्रतिशत और हिंडाल्को इंडस्ट्रीज 3.95 प्रतिशत की गिरावट के साथ आज के टॉप 5 लूजर्स की सूची में शामिल हुए।