मजबूत शुरुआत के बाद लुढ़का शेयर बाजार, सेंसेक्स में 561 अंक तक की गिरावट

मजबूत शुरुआत के बाद लुढ़का शेयर बाजार, सेंसेक्स में 561 अंक तक की गिरावट

नई दिल्ली, 23 जून । भारतीय शेयर बाजार बुधवार को लगातार तीसरे दिन अपनी चाल से निवेशकों को हैरान कर रहा है। सुबह मजबूती के साथ खुला शेयर बाजार आज 1 घंटे के कारोबार के बाद ही लाल निशान में पहुंचकर ट्रेड करने लगा। बिकवाली के दबाव में शेयर बाजार की मजबूती देखते ही देखते हवा हो गई। आज कारोबार की शुरुआत से ही अभी तक लगातार बिकवालों का ही दबाव बना हुआ है।

आज सुबह बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) का सेंसेक्स 323.64 अंक की मजबूती के साथ 52,912.35 अंक के स्तर पर खुला। लेकिन कारोबार की शुरुआत में ही शेयर बाजार पर मंदड़ियों का कब्जा हो गया। लगातार बढ़ रहे बिकवाली के दबाव के कारण 1 घंटे के कारोबार में ही सेंसेक्स लाल निशान में पहुंचकर कारोबार करने लगा। बीच-बीच में लिवाल भी बाजार में जोर लगाते रहे, जिसके कारण सेंसेक्स में कभी-कभी उछाल भी आता रहा। इसी लिवाली के बल पर दोपहर 11 बजे सेंसेक्स एक बार फिर लाल निशान से निकलकर हरे निशान में पहुंच गया। लेकिन थोड़ी ही देर में शेयर बाजार पर एक बार फिर बिकवाली का दबाव बढ़ गया। जिसके कारण सेंसेक्स आज के ओपनिंग लेवल से 561.3 अंक लुढ़क कर 52,351.05 के स्तर तक पहुंच गया।

इसी तरह नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का निफ्टी ने भी आज 90.05 अंक की शानदार तेजी के साथ 15,862.80 अंक के स्तर पर आज के कारोबार की शुरुआत की। लेकिन बिकवाली के दबाव में निफ्टी भी गोता लगाता गया। भारी बिकवाली की वजह से निफ्टी आज के ओपनिंग लेवल से 160.25 अंक लुढ़क कर 15,702.55 अंक के स्तर पर आ गया। शेयर बाजार में लगातार निगेटिव सेंटीमेंट्स के बीच कारोबार करते हुए निफ्टी 1:30 बजे 34.50 अंक गिरकर 15,738.25 अंक के स्तर पर कारोबार कर रहा था। इसी तरह सेंसेक्स भी उस वक्त 126.66 अंक गिरकर 52,462.05 अंक के स्तर पर कारोबार कर रहा था।

आज अभी तक के कारोबार में शेयर बाजार में लगातार बिकवाली का दबाव बना हुआ है। एनर्जी, एफएमसीजी और आईटी सेक्टर में जोरदार बिकवाली हो रही है। निफ्टी मिडकैप इंडेक्स हल्की मजबूती दिखा रहा है, लेकिन स्मॉल कैप इंडेक्स में कमजोरी बनी हुई है। शेयर बाजार को आज बजाज ऑटो, मारुति, बजाज फाइनेंस और टाइटन में हो रही खरीदारी से सपोर्ट मिल रहा है। दूसरी ओर रिलायंस इंडस्ट्रीज, एनटीपीसी, कोटक बैंक, टीसीएस और एचडीएफसी के शेयरों में बिकवाली के वजह से बाजार पर लगातार दबाव भी भी बना हुआ है।