छत्तीसगढ़ में 15 नगरीय निकायों के चुनाव का ऐलान

Announcement of elections in fifteen urban bodies

- मतदान 20 दिसंबर को होगा, 23 दिसंबर को मतगणना के बाद आएंगे नतीजे

रायपुर, 24 नवंबर। छत्तीसगढ़ के 15 नगरीय निकायों के चुनाव की बुधवार को घोषणा कर दी गई। प्रदेश के 10 जिलों के इन 15 निकायों के लिए 20 दिसंबर को मतदान कराए जाएंगे। मतों की गणना 23 दिसंबर को होगी और नतीजे भी उसी दिन घोषित कर दिए जाएंगे।

छत्तीसगढ़ राज्य निर्वाचन आयोग की ओर से बुधवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में नगरीय निकाय चुनाव का कार्यक्रम घोषित किया गया। राज्य निर्वाचन आयुक्त ठाकुर राम सिंह ने बताया कि पिछली बार की तरह इस बार भी नगरीय निकाय चुनाव बैलट पेपर से कराया जाएगा। हांलाकि नामांकन आदि की प्रक्रिया ऑनलाइन भी पूरी कराई जाएगी।

नवा रायपुर स्थित आयोग कार्यालय में ठाकुर राम सिंह ने बताया कि हमारा प्रयास 100 फीसदी ऑनलाइन नामांकन का है। 27 तारीख को जिला कलेक्टर अधिसूचना जारी करेंगे। नॉमिनेशन फॉर्म 27 नवंबर से मिलने शुरू हो जाएंगे। नामांकन की अंतिम तारीख 3 दिसंबर है। वहीं 6 दिसंबर को नाम वापसी की अंतिम तारीख है। 20 दिसंबर को सुबह 8 से शाम 5 बजे तक मतदान होगा। मतगणना 23 दिसंबर को होगी। तारीखों की घोषणा के साथ चुनाव वाले क्षेत्रों में आदर्श चुनाव आचार संहिता लागू हो गई है।

चुनाव आयोग के कार्यक्रम के मुताबिक, 15 नगरीय निकायों के 370 वार्डों में आम चुनाव होगा, जबकि 16 नगरीय निकायों के 17 वार्डों में उपचुनाव होगा। आम चुनाव में 7,78,720 मतदाता उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला करेंगे। जिन 15 शहरों में आम चुनाव कराए जाएंगे उनमें नगर निगम बिरगांव, भिलाई, रिसाली एवं भिलाई-चरोदा, नगर पालिका सारंगढ़, बैकुंठपुर, शिवपुर चरचा, जामुल एवं खैरागढ़ और नगर पंचायत प्रेमनगर, मारो, नरहरपुर, कोंटा, भैरमगढ़ और भोपालपट्टनम शामिल हैं।उपचुनाव वाले शहरों में बिलासपुर, रायगढ़ और राजनांदगांव नगर निगम शामिल हैं। इसके अलावा गोबरा नवापारा, थान-खम्हरिया, बेमेतरा, कोंडागांव और बड़े बचेली नगर पालिका में उपचुनाव होना है। नगर पंचायत बसना, कुरूद, मगरलोड, उतई, देवकर और केशकाल के वार्डों में भी उपचुनाव कराए जाएंगे।

चुनाव वाले 10 जिलों के अधिकारियों के साथ राज्य निर्वाचन आयुक्त ने मंगलवार को बैठक की थी। इसमें कोरोना प्रोटोकॉल से जुड़ी बातों पर चर्चा हुई। बैठक में तय हुआ था कि कोई चुनाव लड़ने या मतदान से वंचित न हो इसके लिए कोरोना पॉजिटिव को भी कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करते हुए चुनाव लड़ने का अवसर दिया जा रहा है।