मुंबई और आसपास के इलाकों में जोरदार बारिश, निचले इलाकों में जलभराव

मुंबई और आसपास के इलाकों में जोरदार बारिश, निचले इलाकों में जलभराव

- मंगलवार तक रेड अलर्ट

राजबहादुर यादव

मुंबई, 12 जून । मुंबई और आसपास के इलाकों में हो रही जोरदार बारिश से निचले इलाकों में जलभराव हो गया है। भारतीय मौसम विभाग ने मंगलवार तक मूसलाधार बारिश की संभावना व्यक्त की है। इसलिए मुंबई, ठाणे, पालघर, रायगढ़, सिंधुदुर्ग जिलों में इस दिन तक तक रेड अलर्ट जारी कर दिया गया है ।

राज्य के भारी बारिश वाले इन इलाकों में राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) की 15 टीमों सहित राज्य आपदा मोचन बल (एसडीआरएफ) की टीमें भी तैनात कर दी गई हैं। राज्य सरकार ने आम नागरिकों को अत्यावश्यक काम न होने पर घर से बाहर नहीं निकलने की अपील की है। मुंबई नगर निगम के कर्मचारी निचले इलाकों में 575 पंप लगाकर जलनिकासी का काम कर रहे हैं।

मौसम विभाग के अनुसार मुंबई में जून महीने के शुरुआती 11 दिनों में कुल 565.2 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई है, जबकि मुंबई में जून महीने में कुल बारिश 505 मिमि ही दर्ज की जाती रही है। शनिवार से मंगलवार तक मुंबई में 200 मिमि बारिश होने की संभावना मौसम विभाग ने जताई है। साथ ही मुंबई सहित ठाणे, पालघर, रत्नागिरी, सिंधुदूर्ग आदि जिलों में भी भारी बारिश की चेतावनी दी गई है। मौसम विभाग के अनुसार सिर्फ मुंबई में बीते 24 घंटों में 107 मिमि बारिश दर्ज की गई है।

मुंबई में हो रही मूसलाधार बारिश की वजह से निचले इलाकों में जलभराव हो गया है। पार्कसाइट विक्रोली, वरली, हिंदमाता, किंग सर्कल ,सायन ,चेंबुर आदि इलाकों में जलभराव से नागरिकों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। ठाणे के महापौर बंगले में भारी बारिश से 100 वर्ष पुराना पेड़ गिर गया है। इसे हटाने का काम नगर निगमकर्मी कर रहे हैं। मुंबई, ठाणे, कल्याण डोंबिवली आदि क्षेत्रों में पहाड़ी पर बसे झोपड़ वासियों को स्थनांतरित करने का काम भी जारी है। इन सभी झोपड़ धारकों को फिलहाल स्कूलों में रहने की व्यवस्था की गई है। इसी तरह मुंबई में मीठी नदी के तट पर बसे लोगों को स्थानांतरित करना शुरू कर दिया गया है। मुंबई में भारी बारिश व उससे होने वाले जलभराव से निपटने के लिए नगरनिगम की टीमें जगह -जगह तैनात की गई हैं। मुंबई नगर निगम के आयुक्त इकबाल चहल खुद जलभराव क्षेत्रों का दौरा कर स्थिति को सामान्य बनाने का प्रयास कर रहे हैं।