मथुरा : 23 करोड़ के छात्रवृत्ति घोटाले में समाज कल्याण विभाग के तीन और कर्मचारी निलम्बित

मथुरा : 23 करोड़ के छात्रवृत्ति घोटाले में समाज कल्याण विभाग के तीन और कर्मचारी निलम्बित

मथुरा, 26 दिसम्बर । समाज कल्याण विभाग की छात्रवृत्ति और फीस भरपाई की योजना में 23 करोड़ रूपयों के घोटाले में शनिवार को तीन और कर्मचारियों को निलम्बित किया गया है। यह जानकारी समाज कल्याण निदेशक बालकृष्ण त्रिपाठी ने दी है।

काफी समय में मथुरा जिले में छात्रवृत्ति और फीस भरपाई की योजना में घपलेबाजी चल रही थी, जिसका संज्ञान स्वयं मुख्यमंत्री द्वारा लिया गया तो इसमें दोषी जिला समाज कल्याण अधिकारी करूणेश त्रिपाठी को विगत दिनों निलंबित कर दिया गया था।

प्रदेश सरकार द्वारा की जा रही जांच के दौरान जिला समाज कल्याण अधिकारी कार्यालय में तैनात कनिष्ठ सहायक योगेश कुमार, नवीन मेहरोत्रा और सहायक विकास अधिकारी राहुल कुमार दोषी पाए जाने पर उन्हें शनिवार निलम्बित कार्रवाई की संस्तुति की गई है। इन तीनों को समाज कल्याण निदेशालय लखनऊ से सम्बद्ध किया गया है और अयोध्या मण्डल के उप निदेशक समाज कल्याण राजेश कुमार सिंह को जांच अधिकारी नियुक्त किया गया है।

शनिवार को समाज कल्याण निदेशक बालकृष्ण त्रिपाठी ने बताया कि इन तीनों के लिए अलग-अलग जारी निलम्बन आदेश जारी किये गये हैं। राहुल कुमार सहायक विकास अधिकारी के निलम्बन आदेश में कहा गया है कि 23 करोड़ रूपये की सरकारी धनराशि के गबन करने के सम्बंध में उनके द्वारा बरती गयी वित्तीय अनियमितताओं के लिए उन्हें उ.प्र.सरकारी सेवक (अनुशासन एवं अपील) नियमावली 1999 में निहित प्रावधानों के तहत अनुशासनात्मक कार्यवाही करते हुए तत्काल प्रभाव से निलम्बित कर दिया गया है। इसी तरह कनिष्ठ सहायक योगेश कुमार और नवीन मेहरोत्रा को उक्त घोटाले में बरती गयी वित्तीय अनियमितताओं के लिए निलम्बित करने के आदेश जारी किये गये हैं।