शिमला के जंगल में संदिग्ध हालत में मिले अज्ञात शव की हुई शिनाख्त

शिमला के जंगल में संदिग्ध हालत में मिले अज्ञात शव की हुई शिनाख्त

शिमला, 08 जनवरी । राजधानी शिमला के आईजीएमसी अस्पताल से सटे जंगल में संदिग्ध हालात में मिले अज्ञात शव की शिनाख्त हो गई है। मृतक विनोद (25) बीते दो माह से लापता था। वह जिला सिरमौर की शिलाई तहसील के खेड़ा गांव का मूल निवासी था। पिछले कई वर्षों से वह शिमला के ढली क्षेत्र में अपने पिता सुंदर सिंह के साथ रह रहा था। सुंदर सिंह ने बेटे के शव की शिनाख्त की है। इसके बाद पुलिस ने पोस्टमार्टम सहित अन्य औपचारिकताएं पूरी करने के बाद शव परिजनों को सौंप दिया।

पुलिस द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक मृतक विनोद के पिता सुंदर सिंह ने बेटे की गुमशुदगी की रिपोर्ट गत 4 नवंबर 2020 को ढली थाने में दर्ज करवाई थी। बहरहाल इस घटना में किसी तरह की आपराधिक वारदात की बात सामने नहीं आई है।

गत छह जनवरी को आईजीएमसी के पास नाले के उपर वीरान जंगल में अज्ञात शव मिलने से हड़कंप मच गया था। शव के सिर व धड़ अलग-अलग थे। पेड़ की टहनी से बंधी रस्सी के साथ गर्दन लटकी थी, जबकि करीब 65 फुट नीचे कुल्ले से नीचे की दोनों टांगों की हडिडयां गिरी हुई थीं। घटनास्थल के पास कपड़े व जूते और झाड़ियो में एक पर्स भी बरामद हुआ था। इस शव का पता पुलिस को तब चला, जब एक कुता मानव पैर लेकर जंगल की तरफ से आईजीएमसी की तरफ आ रहा था।

जिला पुलिस अधीक्षक मोहित चावला ने शुक्रवार को बताया कि शव की शिनाख्त कर ली गई है। पोस्टमार्टम के उपरांत शव को परिजनों को सौंप दिया गया है। इस घटना में किसी भी संश्रेय अपराध का घटित होना नहीं पाया गया है तथा सीआरपीसी 174 के तहत मामला दर्ज कर कार्रवाई अमल में लाई जा रही है।