दो बेटों को गला घोंटकर मारने के बाद महिला खुद फांसी पर लटकी

दो बेटों को गला घोंटकर मारने के बाद महिला खुद फांसी पर लटकी

फतेहाबाद, 20 नवम्बर (हि.स.)। जिले के गांव सुखमनपुर में मायके आई एक 28 वर्षीय महिला द्वारा शुक्रवार दोपहर को अपने दूधमुंहे बेटे तथा 3 वर्षीय बेटे शिवांश का गले में चुन्नी डाल कर उन्हें मौत की नींद सुलाने के पश्चात समय पंखे से फंदा लगाकर आत्महत्या करने का सनसनीखेज मामला प्रकाश में आया है। मामले की सूचना मिलने पर डीएसपी, एसएचओ सदर, सीन ऑफ क्राइम की टीम मौके पर पहुंची और जांच शुरू की। मृतकों की पहचान 28 वर्षीय संजू, उसके 3 वर्षीय पुत्र शिवांश व दो माह के एक पुत्र के रूप में हुई है। पुलिस ने तीनों के शवों को अपने कब्जे में ले लिया है और रतिया के अस्पताल में पोस्टमार्टम की कार्रवाई चल रही है।

मिली जानकारी के अनुसार संजू की शादी खैरातीखेड़ा गांव निवासी पुलिस कांस्टेबल नरेश के साथ हुई थी। नरेश इन दिनों हिसार में तैनात है और दोनों पति-पत्नी का आपस में किसी बात को लेकर झगड़ा चल रहा था। इसके चलते संजू अपने दूसरे बच्चे के जन्म के पश्चात करीब 2 महीने से अपने दोनों बच्चों के साथ अपने माता-पिता के पास गांव सुखमनपुर में रह रही थी। शुक्रवार दोपहर को संजू परिवारजन खरीददारी करने के लिए रतिया में आ गए। इसी दौरान संजू और नरेश की फोन पर बात हुई और दोनों का फिर से झगड़ा होने की बात परिजनों द्वारा कही जा रही है। इस झगड़े के बाद संजू ने गला घोंटकर अपने दोनों पुत्रों की हत्या कर दी और फिर स्वयं भी कमरे में ही फांसी का फंदा लगा लिया। इस घटना के बाद संजू के अड़ोस पड़ोस में रहने वाले रिश्तेदारों ने संजू के घर पहुंच कर जब इस घटना को देखा तो उन्होंने इसकी सूचना खरीददारी करने गए संजू के परिजनों को दी। इसके बाद संजू के परिजन घर आए तो उनको तीनों मृत अवस्था में मिले। बाद में मामले की सूचना पुलिस को दी गई।

सूचना मिलने के बाद डीएसपी सुभाष बिश्नोई व सदर थाना अध्यक्ष रुपेश चौधरी, सीन ऑफ क्राइम की टीम डॉक्टर जोगेंद्र सिंह के नेतृत्व में मौके पर पहुंची और टीम ने मौके का मुआयना किया और शवों को अपने कब्जे में लेकर जांच शुरु कर दी। जब इस बारे में डीएसपी सुभाष बिश्नोई से बात की तो उन्होंने बताया गांव सुखमनपुर में मायके आई विवाहिता महिला द्वारा अपने दो बच्चों का गला घोंटने के बाद खुद पंखे के साथ फंदे पर लटक कर आत्महत्या करने का मामला सामने आया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। अभी तक परिजनों ने बयान नहीं दिए। बयानों के पश्चात आगामी कार्रवाई की जाएगी।