कैदियों के बीच हो रहे संघर्ष पर बॉडी वोर्न कैमरा रखेगा नजर

कैदियों के बीच हो रहे संघर्ष पर बॉडी वोर्न कैमरा रखेगा नजर

नई दिल्ली, 02 मई । तिहाड़ जेल में कैदियों के बीच हो रहे संघर्ष पर रोक लगाएगा बॉडी वोर्न कैमरा । जेल प्रशासन ने कैदियों पर नजर रखने के लिए जेल में तैनात सुरक्षाकर्मियों को बाडी वोर्न कैमरे से लैस कर रहा है। जेल प्रशासन का कहना है कि जेल में कैदियों की संख्या बढ़ने से चुनौतियां बढ़ गई है।

तिहाड़ जेल में हाल के दिनों में कैदियों के बीच संघर्ष की घटना बढ़ गई है। प्रशासन ने इसपर लगाम लगाने के लिए कई कदम उठाएं हैं। इसमें कैदियों की हरकत पर नजर रखना अहम है। इसके साथ साथ कैदियों को समाज की मुख्यधारा से जोड़ने के लिए भी प्रयास किए जा रहे हैं। जेल महानिदेशक संदीप गोयल ने बताया कि जेल के सुरक्षाकर्मियों को बॉडी वोर्न कैमरे से लैस किया जा रहा है।

सुरक्षाकर्मियों के शरीर पर लगने वाले कैमरे कैदियों के हर गतिविधियों पर नजर रखी जाएगी। इन सुरक्षाकर्मियों को नामी बदमाशों के सेल के आस पास तैनात किए गए हैं। जेल अधिकारियों ने बताया कि अभी यह कैमरे कम हैं। आनेवाले दिनों में इसकी संख्या बढ़ाई जाएगी।

इसके साथ साथ जेल परिसर में लगाए गए 75 सौ कैमरे से कैदियों पर निगरानी रखी जा रही है। इन कैमरों का 24 घंटे निगरानी रखी जा रही है। सीसीटीवी कैमरे के जरिए नियम का उल्लंघन करने वाले कैदियों के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है। जेल अधिकारियों का कहना है कि कैमरा लगाए जाने के बाद से जेल में नशीले पदार्थ पर लगाम लगाने में कामयाबी मिली है।

अधिकारियों ने बताया कि जेल में बंद आक्रामक कैदियों का नियमित अंतराल पर उनका जेल बदला जा रहा है ताकि कैदी जेल में गुट न बना सके। जेल में तैनात सुरक्षाकर्मी भी कैदियों पर नजर रखते है और उनकी हर गतिविधियों के बारे में अधिकारियों को सूचित करते हैं। इसके साथ ही कैदियों को व्यस्त रखने के लिए उन्हें व्यावसायिक कोर्स भी करवाया जाता है। जिसमें पेंटिंग, संगीत, फाइन आर्ट और नृत्य सिखाई जाती है। इसके अलावा तिहाड़ में खेलों की सुविधा दी गई है।