दिल्ली विधानसभा की सद्भावना कमेटी के नोटिस पर कंगना का सोशल मीडिया पर जवाब

दिल्ली विधानसभा की सद्भावना कमेटी के नोटिस पर कंगना का सोशल मीडिया पर जवाब

फिल्म अभिनेत्री कंगना रनौत इन दिनों लगातार विवादों में चल रही हैं। हाल ही में कंगना ने प्रधानमंत्री मोदी के कृषि कानून वापस लेने के फैसले से नाखुश किसान आंदोलन की तुलना खालिस्तान से कर दी थी। जिसके बाद देश के अलग-अलग शहरों में उनके खिलाफ कई एफआईआर दर्ज की गईं हैं।

वहीं आम आदमी पार्टी के नेता राघव चड्ढा की अध्यक्षता वाली दिल्ली विधानसभा की शांति और सद्भाव समिति ने भी कंगना रनौत को समन भेजा, जिसमें कंगना को 6 दिसंबर को दोपहर 12 बजे समिति के सामने पेश होने के लिए कहा गया है। यह समन कंगना की तरफ से सिख समाज पर की गई टिप्पणी को लेकर जारी किया गया है।

वहीं अब कंगना ने इसे लेकर अपनी प्रतिक्रिया दी है और केजरीवाल सरकार पर निशाना साधा है।कंगना ने अपनी इंस्टा स्टोरी पर एक न्यूज एजेंसी के पोस्ट को साझा किया है, जिसमें रिमार्क्स ऑन सिख शब्द हाई लाइट है। इसके बाद नीचे एक लाइन लिखी है, जिसमें पूछा गया है कि क्या आप सभी सिखों को खालिस्तानी बता रही हैं।

उल्लेखनीय है कंगना रनौत बीते दिनों अपने देश की आजादी को भीख बताने वाले अपने बयान के बाद से लगातार चर्चा में है। कंगना मोदी सरकार के कृषि कानून के वापस लेने के फैसले से भी नाखुश हैं और इसे लेकर उन्होंने अपनी नाराजगी भी जाहिर की थी।वहीं उन्होंने किसान आंदोलन की तुलना खलिस्तान से की थी, जिसके बाद दिल्ली और मुंबई की सिख कम्युनिटी इस बात से नाराज हो गईं कि किसानों को खालिस्तानी कहकर कंगना ने सिख समुदाय का अपमान किया है। इसके बाद से देश के अलग अलग जगहों में कंगना के खिलाफ कई एफआईआर दर्ज हो रही हैं।