चिकित्सकों की चिंताएं बढ़ा रही है कोलकाता व उ. 24 परगना की कोरोना परिस्थिति

चिकित्सकों की चिंताएं बढ़ा रही है कोलकाता व उ. 24 परगना की कोरोना परिस्थिति

कोलकाता, 23 मार्च । गत सोमवार को ही पिछले साल देश में हुए जनता कर्फ्यू की पहली वर्षगांठ थी। यह पहला दिन था जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आह्वान पर पूरा देश एकजूट होकर कोरोना के खिलाफ 14 घंटों के जनता कर्फ्यू में उतरा था। उसके बाद से पूरे एक साल का समय बीत गया। पिछले एक साल के दौरान कोरोना का ग्राफ कभी ऊपर गया तो फिर धीरे-धीरे नीचे भी उतरा। अब एक बार फिर से कोरोना से संक्रमण का ग्राफ ऊपर चढ़ रहा है। सोमवार को ही हाल के दिनों में कोरोना संक्रमण का सर्वाधिक आंकड़ा भी पार हो गया।

स्वास्थ्य विभाग से प्राप्त जानकारी के अनुसार पिछले 24 घंटों के दौरान राज्य में 368 लोग कोरोना संक्रमित हुए हैं। इनमें से 128 व्यक्ति कोलकाता निवासी हैं। दूसरे स्थान पर उत्तर 24 परगना है जहां के 98 व्यक्ति कोरोना संक्रमित हैं। राज्य में कोरोना संक्रमित कुल व्यक्तियों की संख्या पांच लाख 80 हजार 999 पर पहुंच चुकी है। वर्तमान में एक्टिव मामलों की संख्या तीन हजार 574 है। राज्य में पिछले 24 घंटों के दौरान कोरोना से दो व्यक्तियों की मृत्यु हुई है। राज्य में कोरोना से कुल मरने वाले व्यक्तियों की संख्या 10 हजार 308 हैं।

कोलकाता एवं उत्तर 24 परगना की स्थिति चिकित्सकों को सोच में डाल रही है। आशंका व्यक्त की जा रही है कि चुनाव के मौसम में इन दोनों जिलों की स्थिति दिल्ली व मुंबई जैसी हो सकती है। पिछले 24 घंटों में स्वस्थ होने वाले लोगों की संख्या 296 है।

देशभर में एक दिन में 47 हजार कोरोना के मामले सामने आये हैं। सिर्फ इतना ही नहीं दैनिक मृत्यु की संख्या भी एक झटके में काफी बढ़ गयी है।

जानकारी के अनुसार पिछले 24 घंटों के दौरान 212 लोगों की मृत्यु हुई है। वहीं देश के साथ-साथ पश्चिम बंगाल में भी कोरोना वायरस का संक्रमण बढ़ता जा रहा है। हालांकि देशभर के आंकड़ों की तुलना में राज्य में कोरोना के मामले थोड़ी राहत दे रहे हैं।