टेक्सास बंधक कांड : ब्रिटेन पुलिस ने दो किशोरों को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू की

लंदन, 17 जनवरी (हि.स.)। अमेरिका के टेक्सास में यहूदियों के पूजाघर में घुसकर वहां मौजूद लोगों को बंधक बनाने के मामले में ब्रिटेन की पुलिस ने दो किशोरों को हिरासत में लेकर उनसे पूछताछ शुरू की है।

अमेरिका के टेक्सास में शनिवार को एक बंदूकधारी हमलावर ने यहूदियों के पूजास्थल में घुसकर वहां मौजूद लोगों को बंधक बना लिया। बाद में उक्त हमलावर को मारकर पुलिस ने सभी बंधकों को रिहा करा लिया था। उक्त हमलावर की पहचान ब्रिटिश नागरिक मलिक फैसल अकरम के रूप में हुई थी। अब ब्रिटेन की पुलिस इस घटनाक्रम की तह तक जाने के लिए जांच कर रही है। सोमवार को ब्रिटेन की पुलिस ने दो किशोरों को हिरासत में लेकर उनसे पूछताछ शुरू की है।

उल्लेखनीय है कि मारा गया हमलावर पाकिस्तान की तंत्रिका विज्ञानी आफिया सिद्दिकी की रिहाई की मांग कर रहा था। आफिया पर अलकायदा से संबंध रखने और अफगानिस्तान में सैन्य अधिकारियों को मारने की कोशिश के आरोप हैं। ब्रैंडिस यूनिवर्सिटी और मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (एमआईटी) से डिग्री लेने वाली आफिया को 2010 में 86 साल की जेल की सजा सुनाई गई थी। आफिया टेक्सास की संघीय जेल में बंद है। यहूदी पूजाघर सिनेगाग में चल रहे अनुष्ठानों का फेसबुक पर सीधा प्रसारण किया जा रहा था। इसी दौरान अकरम वहां बंदूक लेकर घुस आया और वहां मौजूद सभी लोगों को बंधक बना लिया। अमेरिकी पुलिस ने जवाबी कार्रवाई करते हुए अकरम को मार गिराया था।