महिलाओं को सिर्फ बच्चे पैदा करने चाहिए : तालिबान

महिलाओं को सिर्फ बच्चे पैदा करने चाहिए : तालिबान

काबुल, 10 सितम्बर । तालिबान शासन में महिलाओं को सरकार में शामिल किए जाने की संभावनाओं को खारिज करते हुए तालिबान के प्रवक्ता ने कहा है कि महिलाओं को केवल बच्चे पैदा करने चाहिए। उन्होंने यह भी कहा कि महिलाओं को मंत्री के रूप में कैबिनेट में शामिल नहीं किया जाना चाहिए।

तालिबान का यह बयान ऐसे समय में आया है जब सैकड़ों अफगानी महिलाएं जान जोखिम में डालकर तालिबान शासन के विरोध में सड़कों पर उतर आई हैं।

तालिबान प्रवक्ता सैयद जेकरुल्ला हाशिमी ने टोलो न्यूज को दिए साक्षात्कार में कहा कि महिलाएं मंत्री नहीं हो सकती हैं।

उन्होंने कहा कि यह जरूरी नहीं है कि महिलाओं को मंत्रिमंडल में शामिल किया जाए। महिला प्रदर्शनकारी अफ़ग़ानिस्तान में सभी महिलाओं का प्रतिनिधित्व नहीं कर सकतीं।

अफगानिस्तान में हाल ही में कब्जा करने के बाद तालिबान ने महिला अधिकारों का सम्मान करने का वादा किया था और कहा था कि उन्हें सरकारी नौकरी दी जाएगी। इससे पहले भी 1996 से लेकर 2001 तक तालिबान के शासन में महिलाओं को काम करने की अनुमति नहीं थी। अगर उन्हें बाहर जाना है कि तो उन्हें किसी पुरुष पारिवारिक सदस्य के साथ बाहर जाने की अनुमति थी।

सीएनएन के अनुसार, सोशल मीडिया में कई ऐसे वीडियो वायरल हो रहे हैं, जहां तालिबान के लड़ाकों द्वारा महिलाओं को पीटा जा रहा है। लेकिन फिर भी महिलाएं हार नहीं मान रही हैं और लगातार सरकार के खिलाफ हाथों में तख्तियां लिए नारे लगा रही हैं।