असम : अंतिम यात्रा पर पूर्व मुख्यमंत्री तरुण गोगोई

असम : अंतिम यात्रा पर पूर्व मुख्यमंत्री तरुण गोगोई

-राजधानी के नवग्रह श्मशान में उनकी अंत्येष्टि क्रिया होगी संपन्न

गुवाहाटी, 26 नवम्बर । असम के पूर्व मुख्यमंत्री तरुण गोगोई का नाश्वर शरीर गुरुवार को अंतिम यात्रा पर रवाना हुआ। सोमवार की शाम को गोगोई का गुवाहाटी मेडिकल कालेज अस्पताल में निधन हो गया था। मंगलवार से लोगाें के दर्शनार्थ उनका पार्थिव शरीर शंकरदेव कलाक्षेत्र में रखा गया था। गुरुवार की सुबह कलाक्षेत्र से उनका पार्थिव शरीर गोगोई के सरकारी आवास पर एक पुष्प सज्जित वाहन के जरिए ले जाया गया। जहां पर उनके परिजन अपनी अंतिम श्रद्धांजलि दिये। सुबह 07.40 बजे गोगोई के पार्थिव शरीर को कलाक्षेत्र से रवाना किया गया।

पूर्व मुख्यमंत्री तरुण के पुत्र गौरव गोगोई और पत्नी डॉली गोगोई आहोम परंपरा के अनुसार धार्मिक विधि विधान के अनुसार पूरे कर्मकांड को पूरा किया। इसके बाद उनके पार्थिव शरीर को छहमाइल स्थित गिर्जाघर, और जू-रोड स्थित एक नामघर के बाद आमबारी स्थित बूढ़ा मस्जिद, वहां से शुक्रेश्वर और उग्रतारा मंदिर में ले जाया गया। इसके बाद राजधानी के नवग्रह श्मशान में उनकी अंत्येष्टि क्रिया संपन्न होगी।

असम प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष रिपुन बोरा ने बताया है कि पूर्व मुख्यमंत्री तरुण गोगोई शांति, समन्वय और धर्म निरपेक्षता के बड़े ध्वजवाहक थे। इसलिए उनके पार्थिव शरीर को सभी धार्मिक प्रतिष्ठानों में ले जाने की योजना बनायी गयी हैं। नवग्रह श्मशान को में अंत्येष्टि क्रिया के लिए सभी तैयारियां राज्य सरकार की ओर से पूरी की गयी हैं।

अंत्येष्टि क्रिया के दौरान सबसे पहले आहोम परंपरा और उसके बाद हिन्दू परंपरा के अनुसार पूरी प्रक्रिया निभायी जाएगी। श्मशान में पूर्व मुख्यमंत्री के विधानसभा क्षेत्र तिताबर से आने वाले 100 लोगों के लिए विभिन्न दल, संगठन व राजनेताओं के लिए व्यवस्था की गयी है। गोगोई की अंतिम यात्रा में काफी संख्या में लोगों ने हिस्सा लिया।

उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल ने पूर्व मुख्यमंत्री के निधन पर तीन दिनों के राजकीय शोक की घोषणा की है। साथ ही उनकी अंत्येष्टि को राजकीय मर्यादा के साथ संपन्न करने का निर्देश दिया था।