काशी सम्मेलन में पहुंचने से पहले अयोध्या पहुंचेंगे राज्यों के मुख्यमंत्री : उपमुख्यमंत्री

काशी सम्मेलन में पहुंचने से पहले अयोध्या पहुंचेंगे राज्यों के मुख्यमंत्री : उपमुख्यमंत्री

-14 दिसंबर को काशी में भाजपा शासित राज्यों में मुख्यमंत्री, उपमुख्यमंत्री का होगा सम्मेलन

-प्रधानमंत्री मोदी 13 दिसम्बर को कॉरिडोर का उद्घाटन करने के बाद सम्मेलन में भी होंगे शामिल

लखनऊ, 09 दिसंबर । दिव्य काशी भव्य काशी अभियान के तहत 14 दिसम्बर को वाराणसी में प्रस्तावित मुख्यमंत्रियों के सम्मेलन में शामिल होने आ रहे भाजपा शासित राज्यों के मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री अयोध्या भी पहुंचेंगे। सभी मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री अयोध्या पहुंचकर रामलला के दर्शन पूजन करेंगे। अयोध्या में भगवान राम की जन्मभूमि पर बन रहे भव्य राम मंदिर का भी दर्शन करेंगे।

ज्ञात हो कि प्राचीन धार्मिक नगरी काशी में नवनिर्मित बाबा विश्वनाथ कॉरिडोर का लोकार्पण प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 13 दिसम्बर को करेंगे। उसके दूसरे दिन 14 दिसम्बर को काशी में मुख्यमंत्री-उपमुख्यमंत्रियों को सम्मेलन आयोजित किया जाएगा। इस सम्मेलन को भी प्रधानमंत्री मोदी संबोधित करेंगे।

सम्मेलन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अलावा भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा, राष्ट्रीय महामंत्री संगठन बी.एल.संतोष भी शामिल होंगे। इस कार्यक्रम के प्रभारी तरूण चुग व सह प्रभारी आशीष सूद हैं। सभी मुख्यमंत्री, उपमुख्यमंत्रियों को तीन दिन 13, 14 और 15 दिसंबर तक का धार्मिक व सांस्कृतिक प्रवास होगा।

कॉरिडोर के उद्घाटन वाले कार्यक्रम में देश भर से धर्माचार्य, साधु संत, प्रबुद्धजन, मुख्यमंत्री, उपमुख्यमंत्री, केन्द्रीय मंत्री श्रद्धालुगण प्रत्यक्ष रूप से भाग लेंगे। यह कार्यक्रम भारतीय संस्कृति के अनोखे तादात्म्य, सामाजिक समरसता, अंखडता और एकता का प्रतीक होगा।

इस कार्यक्रम को ऐतिहासिक एवं अभूतपूर्व बनाने के लिए भाजपा ने पार्टी स्तर पर कई कार्यक्रमों की रचना की है। यह कार्यक्रम एक महीने तक पूरे देश में आयोजित किये जाएगें। 13 दिसम्बर से शुरू होकर मकर संक्रान्ति 14 जनवरी तक चलेंगे। पार्टी के सभी जन-प्रतिनिधि इन कार्यक्रमों में भाग लेंगे। कई कार्यक्रमों की शुरूआत पहले ही हो चुकी है।

काशी विश्वनाथ धाम के लोकार्पण के अवसर पर 12,13,14 दिसम्बर को प्रदेश के लोग दीपक जलाकर अपने घरों में भगवान शिव का आवाह्न करेंगे। भाजपा प्रत्येक गांव, नगर, शहर में दीपोत्सव के लिए अभियान चलाएगी। इसे सफल बनाने के लिए दीप व्यवस्था कार्यक्रम तैयार किया गया है। इसके लिए एक कमेटी का गठन किया गया है। यह कमेटी बूथ स्तरीय सम्पर्क करेगी और दीप वितरण की व्यवस्था देखेगी।