मुंबई के चेंबुर, विक्रोली व भांडुप में मृतकों की संख्या 25 हुई

मुंबई के चेंबुर, विक्रोली व भांडुप में मृतकों की संख्या 25 हुई

मृतकों के परिजन को 5-5 लाख रुपये की आर्थिक मदद

मुंबई, 18 जुलाई । मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने भारी बारिश से मुंबई के चेंबुर और विक्रोली में पहाड़ी धसकने व भांडुप में दीवार गिरने की घटना में मृतकों के आश्रितों को 5-5 लाख रुपये की आर्थिक मदद की घोषणा की है । मुख्यमंत्री ने इस घटना पर शोक व्यक्त करते हुए बताया कि सभी घायलों का सरकारी खर्च पर मुफ्त इलाज किया जाएगा। प्रधानमंत्री ने भी इन घटनाओं में मृतकों के आश्रितों को 2-2 लाख व घायलों को 50 हजार रुपये की आर्थिक मदद की घोषणा की है। इन तीनों घटनाओं में अब तक 25 लोगों की मौत हो चुकी है। इनमें चेंबुर में 17, विक्रोली में 7 एवं भांडुप में एक व्यक्ति की मौत हुई है। इन घटनाओं में कुल 18 लोगों का इलाज मुंबई के राजावाड़ी एवं अन्य अस्पतालों में हो रहा है।

इस घटना पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी गहरा दुख व्यक्त किया है।

मुंबई के संरक्षक मंत्री आदित्य ठाकरे ने घटनास्थल का दौरा किया और पत्रकारों को बताया कि तीनों स्थानों पर राहत व बचाव कार्य जारी है। आदित्य ठाकरे ने कहा इस घटना में पीडि़तों का घर उजड़ गया है, इसलिए केंद्र सरकार को और मदद करनी चाहिए। मुंबई की महापौर किशोरी पेडणेकर ने इस घटना पर गहरा दुख व्यक्त किया है। उन्होंने कहा कि चेंबुर व विक्रोली में प्रशासन ने लोगों को नोटिस जारी कर सुरक्षित स्थल पर जाने के लिए कहा था। लेकिन मुंबई में लोगों को जान की बजाय घर की अधिक चिंता रहती है, इसी वजह से लोग सुरक्षित स्थल पर नहीं गए थे । महापौर ने कहा कि घटनास्थल पर राहत व बचाव कार्य जारी है और आस पास के लोगों को मुंबई नगर निगम की ओर से हर आवश्यक मदद की जा रही है।

उल्लेखनीय है कि शनिवार को रात से हो रही मूसलाधार बारिश की वजह से चेंबुर में स्थित लाल डोंगर के पास पहाड़ी का हिस्सा धसक कर झोपड़ों पर गिर गया था। इस घटना में अब तक 17 लोगों की मौत हो गई है और तकरीबन 8 लोग घायल हुए हैं। इसी तरह विक्रोली स्थित सूर्यानगर में भी पहाड़ी का हिस्सा धसक कर झोपड़ों पर गिर जाने से अब तक 7 लोगों की मौत हो गई है। यहां 8 झोपड़े ध्वस्त हो गए हैं और 8 लोग घायल हुए हैं। इसी तरह भांडुप के अमरकोर स्कूल के पास वन विभाग की संरक्षक दिवार गिरने से कई झोपड़े दब गए और एक व्यक्ति की मौत हो गई और 2 लोग घायल हुए हैं। इन तीनों जगह फायर ब्रिगेड, राष्ट्रीय आपदा मोचक बल (एनडीआरएफ ) की टीम राहत व बचाव कार्य कर रही है। यहां मलवे में खोजी कुत्तों की टीम के सहयोग से लोगों को ढ़ूंढने का काम जारी है।