नागालैंड के मोन जिला में उग्रवादियों का सेना पर हमला, असम राइफल्स के दो जवान घायल

कोहिमा, 15 अगस्त । नागालैंड मोन जिला के नासा बस्ती में सोमवार की तड़के स्वतंत्रता दिवस के मौके पर प्रतिबंधित उग्रवादी संगठन एनएससीएन ने एक बार फिर सेना पर हमला किया है। इसके बाद असम राइफल्स के बीच भीषण मुठभेड़ में दो जवान घायल हुए हैं।

मुठभेड़ में असम राइफल्स की 32वीं बटालियन के दो जवान गंभीर रूप से घायल हो गये हैं। दोनों जवानों को इलाज के लिए हेलीकॉप्टर से असम के जोरहाट स्थित सेना के अस्पताल भेजा गया है। मुठभेड़ आज तड़के 2.30 बजे के आसपास हुई। पूरे इलाके को घेरकर सुरक्षा एजेंसियां तलाशी अभियान चला रही हैं।

दरअसल एनएससीएन, उल्फा (स्वाधीन) आदि उग्रवादी संगठनों ने स्वतंत्रता दिवस का बहिष्कार की घोषणा की है। असम में उल्फा (स्व) ने असम बंद का आह्वान किया है। स्वतंत्रता दिवस के मद्देनजर असम, नागालैंड, मणिपुर, मेघालय, अरुणाचल प्रदेश आदि राज्यों में सुरक्षा के बेहद पुख्ता इंतजाम किये गये हैं।

हाल ही में अरुणाचल प्रदेश और नागालैंड में एनएससीएन और उल्फा (स्व) ने असम राइफल्स के तीन शिविरों पर हमला किया था जिसमें सेना के एक वरिष्ठ अधिकारी मामूली रूप से घायल हुए थे। इसके बाद से ही भारत से लगने वाली म्यांमार सीमा पर सुरक्षा के बेहद कड़े इंतजाम किये गये थे। इसके बावजूद आज फिर से उग्रवादियों ने सेना पर हमला कर अपनी उपस्थिति दर्ज कराने की कोशिश की है।

पूर्वोत्तर के उग्रवादियों की यह हमेशा से कोशिश रही है कि राष्ट्रीय पर्व के मौके पर विस्फोट या हमला कर अपनी उपस्थिति को दर्ज कराया जाए। आज की घटना को भी इसी कड़ी के रूप में देखा जा रहा है।