पंचायती राज दिवस पर उपराष्ट्रपति ने कहा, कोरोना से जंग में स्थानीय निकायों की भूमिका महत्वपूर्ण

पंचायती राज दिवस पर उपराष्ट्रपति ने कहा, कोरोना से जंग में स्थानीय निकायों की भूमिका महत्वपूर्ण

नई दिल्ली, 24 अप्रैल । पंचायती राज दिवस के मौके पर उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने शुक्रवार को कहा कि कोरोना से जंग में स्थानीय निकायों की भूमिका महत्वपूर्ण है।

उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने अपने संदेश में कहा कि कोविड-19 के विरुद्ध अभियान में स्थानीय स्तर पर संक्रमण को रोकने, जन जागृति का प्रसार करने में तथा सोशल डिस्टेंसिग एवं सरकार द्वारा जारी किए गए अन्य निर्देशों का पालन कराने तथा सामुदायिक आयोजनों व सार्वजनिक स्थलों पर भीड़ को रोकने में स्थानीय निकायों की महत्वपूर्ण भूमिका है।

उन्होंने कहा, आज पंचायती राज दिवस पर स्थानीय निकायों के सभी जन प्रतिनिधियों का अभिनन्दन करता हूं और आह्वान करता हूं कि वे राष्ट्रपिता महात्मा गांधी द्वारा प्रतिपादित ग्राम स्वराज के आदर्श का अनुसरण करें और ग्रामों और शहरों में जन केंद्रित सुशासन सुनिश्चित करें।

वेंकैया ने कहा कि देश की पंचायतें और स्थानीय निकाय हमारे विकेंद्रीकृत प्रशासनिक ढांचे को मजबूत आधार प्रदान करते हैं। वे देश में लोकतंत्र की जड़ों को मजबूत करते हैं। उन्होंने कहा कि स्थानीय स्तर पर लोकतांत्रिक संस्थाएं और सक्षम प्रशासन, सुशासन के लिए अनिवार्य हैं। ग्राम राज्य से ही राम राज्य का स्वप्न साकार होगा।

वेंकैया ने कहा लोकतंत्र तभी सशक्त होता है जब लोग गांधी जी की ग्राम स्वराज की अवधारणा के अनुसार स्थानीय स्तर पर अपने मुद्दों के समाधान में ज़िम्मेदारी पूर्वक सक्रिय भाग लेते हैं।

केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस के अवसर पर देश की करीब दो लाख 60 हजार पंचायती राज संस्थाओं के 30 लाख 41 हजार से अधिक जनप्रतिनिधियों एवं समस्त देशवासियों को हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं।