सोनाली बार्डर पर रोहिंग्या महिला गिरफ्तार, 10 साल पूर्व आई थी भारत

सोनाली बार्डर पर रोहिंग्या महिला गिरफ्तार, 10 साल पूर्व आई थी भारत

- म्यांमार की नागरिक कश्मीर में घर बनाकर रहती है य़ह रोहिंग्या महिला

- भारत नेपाल मैत्री बस से आ रही थी भारत, एसएसबी जवानों ने पकड़ा, मुकदमा दर्ज कर भेजा जेल

महाराजगंज, 23 जून । भारत-नेपाल सीमा के सोनौली चेक पोस्ट पर एसएसबी के जवानों ने एक रोहिंग्या महिला को गिरफ्तार किया। वह नेपाल के पोखरा से भारत मे प्रवेश करने वाली थी। लेकिन रूटीन जांच के दौरान जवानों ने भारत आ रही नेपाल-भारत मैत्री बस में सवार इस महिला को गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में महिला की पहचान रोहिंग्या मुस्लिम महिला सचिदा बेगम के रूप में हुई है। वह म्यांमार की नागरिक बताई जा रही है।

10 साल पूर्व समुद्र के रास्ते आई भारत

पूछताछ के दौरान महिला ने बटाया है कि वह 10 साल पूर्व अपने पति और 5 बच्चों के साथ बांग्लादेश आई थी। उसी दौरान उसने समुद्र मार्ग से भारत मे प्रवेश किया और मणिपुर पहुंच गई। वहां से ट्रेन से दिल्ली और फिर जम्मू कश्मीर पहुंची जहां वह अपना घर बना कर रह रही थी।

एक बेटे को ढूंढ़ने का कर रही थी प्रयास

बताया जा रहा है कि गिरफ्तार हुई महिला अब अपने एक बेटे को ढूंढ रही है। उसको ही खोजते हुए वह नेपाल से इधर आ रही थी और वह पकड़ी गई है।

मुकदमा दर्ज कर भेजा गया जेल

आरोपित महिला के खिलाफ इमीग्रेशन के अधिकारियों ने सोनौली कोतवाली में मुकदमा दर्ज कराया और गुरुवार को जेल भेज दिया।

बोले कोतवाल

इस संबंध में कोतवाल मनोज कुमार राय ने बताया कि तहरीर मिलने के बाद म्यांमार नागरिक अवैध रूप से भारत में प्रवेश करने और भारतीय पहचान पत्र बनवाने के आरोप में केस दर्ज कर गुरुवार को जेल भेजा गया है।