अमृतकाल में पांच प्रतिज्ञा पर शक्ति, संकल्प और सामर्थ्य केंद्रित करना होगा: प्रधानमंत्री मोदी

नई दिल्ली, 15 अगस्त। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आजादी के अमृतकाल को राष्ट्र के विकास के लिए महत्वपूर्ण बताते हुए कहा कि आने वाले 25 साल के लिए हमें पांच प्रतिज्ञाओं पर अपनी शक्ति, संकल्प और सामर्थ्य को केंद्रित करना होगा। उन्होंने भारत को लोकतंत्र की जननी करार देते हुए कहा कि विविधता ही इसकी ताकत है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि 2047 के लिए पांच प्रण में विकसित भारत बनाना, दासता के किसी भी निशान को हटाना, विरासत पर गर्व, एकता और अपने कर्तव्यों को पूरा करना शामिल है। उन्होंने युवाओं से देश के विकास के लिए अपने जीवन के अगले 25 वर्ष समर्पित करने का आग्रह करते हुए कहा कि हम पूरी मानवता के विकास की दिशा में काम करेंगे। प्रधानमंत्री ने कहा कि अनुभव कहता है कि एक बार हम सब संकल्प लेकर चल पड़ें, तो हम निर्धारित लक्ष्यों को पार कर लेते हैं।

प्रधानमंत्री ने 76वें स्वतंत्रता दिवस पर लाल किले की प्राचीर से राष्ट्र को संबोधित करते हुए कहा कि आने वाले 25 साल के लिए हमें पंच प्रण पर अपनी शक्ति, संकल्पों और सामर्थ्य को केंद्रित करना होगा। उन्होंने कहा कि देश अब बड़े संकल्प लेकर ही चलेगा और वो बड़ा संकल्प है विकसित भारत। प्रधानमंत्री ने दूसरा प्रण बताते हुए कहा कि किसी भी कोने में मन के भीतर गुलामी का एक भी अंश है, तो उससे हमें मुक्ति पानी ही होगी। हमें हमारी विरासत पर गर्व होना चाहिए। प्रधानमंत्री ने एकता और एकजुटता के अलावा नागरिकों के कर्तव्यों को भी इसमें जोड़ा।

उन्होंने कहा कि अमृतकाल का पहला प्रभात समाज की आकांक्षाओं को पूरा करने का सुनहरा अवसर है। हमारे देश के भीतर कितना बड़ा सामर्थ्य है, एक तिरंगे झंडे ने दिखा दिया है।

प्रधानमंत्री ने देश के 76वें स्वतंत्रता दिवस पर लोगों को बधाई देते हुए कहा कि यह ऐतिहासिक दिन है। प्रधानमंत्री ने ब्रिटिश शासन के खिलाफ लड़ने वाले तात्या टोपे, राम प्रसाद बिस्मिल, अशफाकउल्लाह खान आदि स्वतंत्रता सेनानियों को श्रद्धांजलि देने के साथ ही रानी लक्ष्मी बाई और बेगम हजरत महल सहित भारत की महिला सेनानियों को भी श्रद्धा सुमन अर्पित किए। प्रधानमंत्री ने इस कड़ी में राजेंद्र प्रसाद, जवाहरलाल नेहरू और सरदार वल्लभभाई पटेल सहित अन्य राष्ट्र निर्माताओं को भी श्रद्धांजलि दी।

उन्होंने कहा कि आज दुनिया के कोने-कोने में भारत से प्यार करने वाले भारतीयों द्वारा गर्व से तिरंगा फहराया जा रहा है।