एलएसी पर तनाव से भारत-चीन संबंधों पर पड़ा असर : एस जयशंकर

नई दिल्ली, 17 अक्टूबर । विदेश मंत्री एस जयशंकर ने शनिवार को कहा कि चीन और भारत के बीच की वास्तविक नियंत्रण रेखा पर तनाव के चलते दोनों देशों के व्यापक संबंधों पर असर पड़ा है।

विदेश मंत्री अपनी पुस्तक द इंडिया वे के प्रचार संबंधी पुणे के एक वेबीनार को संबोधित करते हुए कहा कि चीन और भारत की सीमा से जुड़ा प्रश्न जटिल एवं कठिन है।

जयशंकर ने कहा कि सीमा क्षेत्रों में शांति और सामान्य स्थिति बनी रहनी चाहिए अगर यह बड़े स्तर पर प्रभावित होती है तो इसका जाहिद तौर पर संबंधों पर असर पड़ता है और यही हाल के दिनों में हमने देखा है।

जयशंकर ने कहा कि भारत और चीन का उदय हो रहा है और वह अब विश्व में एक बड़ी भूमिका में आ रहे हैं। ऐसे में बड़ा सवाल यह है कि कैसे दोनों देश आपस में संतुलन बनाएंगे। उन्होंने कहा कि इसी बुनियादी मुद्दे को उन्होंने अपनी पुस्तक पर संबोधित करने की कोशिश की है।

विदेश मंत्री ने कहा कि अफ्रीका के उदय को सुविधाजनक बनाने, सहयोग और सहभाग करने में भारत के रणनीतिक हितों भी हैं। अगर अफ्रीका वैश्विक राजनीति में एक धूरी बनता है तो यह हमारे लिए बेहतर होगा।