गरीबी के खिलाफ संयुक्त रूप से करना होगा संघर्ष : उपराष्ट्रपति

गरीबी के खिलाफ संयुक्त रूप से करना होगा संघर्ष : उपराष्ट्रपति

नई दिल्ली, 17 अक्टूबर । उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने शनिवार को अंतरराष्ट्रीय गरीबी उन्मूलन दिवस के मौके पर न्यायपूर्ण समाज निर्माण के लिए गरीबी के खिलाफ संयुक्त रूप से संघर्ष करने का आह्वान किया।

उपराष्ट्रपति वेंकैया ने ट्वीट कर कहा, न्यायपूर्ण समाज का निर्माण करने के लिए दबे कुचले और वंचित लोगों के उद्धार के लिए हमें संयुक्त रूप से संघर्ष करना होगा। उन्होंने कहा कि हमें गरीबी के आर्थिक, सामाजिक, कानूनी या पर्यावरणीय को ध्यान में रखकर मूल कारणों का निदान करना होगा।

उन्होंने कहा कि अंतरराष्ट्रीय गरीबी उन्मूलन दिवस, समाज के दुर्बल वर्गों के प्रति हमारे विशेष दायित्व की याद दिलाता है। महामारी ने इन वर्गों को अधिक प्रभावित किया है। दुर्बल वर्गों की सहायता के लिए सरकार तथा सामाजिक संस्थाओं द्वारा किए जा रहे प्रयासों के साथ, अंतरराष्ट्रीय सहयोग भी अपेक्षित है।

उल्लेखनीय है कि संयुक्त राष्ट्र (यूएन) ने 1992 में 17 अक्टूबर को अंतरराष्ट्रीय गरीबी उन्मूलन दिवस के रूप में घोषित किया था। उसी समय से प्रत्येक वर्ष 17 अक्टूबर को पूरी दुनिया में गरीबी उन्मूलन के प्रति जागरूकता लाने का प्रयास किया जाता है।