उत्तराखंड आपदा में लापता हैं बंगाल के पांच लोग

उत्तराखंड आपदा में लापता हैं बंगाल के पांच लोग

कोलकाता, 09 फरवरी । उत्तराखंड के चमोली में ग्लेशियर टूटने के बाद जल मग्न हुए क्षेत्रों में देश के बाकी हिस्सों के साथ पश्चिम बंगाल के भी पांच लोग लापता हैं।

राज्य प्रशासन सूत्रों ने बताया है कि महिषादल के रहने वाले लालू चमोली में ही ठीकादारी करते थे। उनके भाई बुलु भी साथ में थे। दोनों का काम उत्तराखंड के ऋषिगंगा परियोजना में चल रहा था। इनके साथ चौकद्वार बेड़िया के रहने वाले सुदीप भी उत्तराखंड गए थे। जहां इनका काम चल रहा था। वही ग्लेशियर टूटा है जिसके बाद से इनमें से किसी भी तरह से संपर्क नहीं हो पा रहा है।

लालू के पिता ध्रुव गोपाल ने बताया है कि रविवार सुबह आखिरी बार बेटे से बात हुई थी उसके बाद फोन नहीं लग रहा है।

लालू ने बताया था कि वह प्रोजेक्ट पर काम कर रहा था। प्रशासन के पास इसकी जानकारी दी गई है।

इसी तरह से तपोवन इलाके में महिषादल के इच्छापुर निवासी बुद्धदेव समाई रहते थे जो आपदा की चपेट में आ गए थे। हालांकि उनकी जान बच गई है। इसके अलावा आडसर बागानडी गांव के रहने वाले शुभंकर तंतुरॉय और अश्विनी तंतु रॉय भी लापता है। इन दोनों के बारे में भी प्रशासन को जानकारी दी गई है।

पूर्व मेदिनीपुर के जिला पुलिस अधीक्षक प्रवीण प्रकाश ने कहा कि महिषादल के तीन युवकों की सोमवार शाम 5 बजे तक कोई खोज खबर नहीं मिली है। इसके साथ ही पुरुलिया के पुलिस अधीक्षक विश्वजीत महतो ने कहा कि शुभंकर और अश्विनी लापता हैं। इनके बारे में राज्य सचिवालय को जानकारी दी गई है जहां से उत्तराखंड राज्य प्रशासन से संपर्क साधा गया है।