गांधीनगर से सरखेज तक का सफर जुलाई से होगा आसान

गांधीनगर से सरखेज तक का सफर जुलाई से होगा आसान

- गांधीनगर/अहमदाबाद, 28 दिसम्बर (हि.स.)। अहमदाबाद के एसजी हाइवे पर गांधीनगर को सरखेज से जोड़ने वाले राष्ट्रीय राजमार्ग पर जुलाई से यातायात सुगम होने वाला है। इसके बनने से गांधीनगर से सरखेज तक एक घंटे की यात्रा 20 मिनट में पूरी हो सकेगी। इस 44.2 किलोमीटर लंबे मार्ग का निर्णाण तेजी से हो रहा है और उम्मीद है कि जुलाई 2021 इसका निर्माण पूरा हो जायेगा। इस पर 867 करोड़ रुपये खर्च होगा।

अहमदाबाद के एसजी हाइवे पर 44 किलोमीटर की सड़क 10-लेन और टोल-फ्री होगी, जिसमें यातायात की भीड़ को कम करने के लिए गांधीनगर और अहमदाबाद को जोड़ने वाले वैष्णोदेवी सर्कल पर ओवरब्रिज और अंडरब्रिज भी बन रहे हैं। इससे पहले वैष्णोदेवी सर्किल पर एसजी राजमार्ग पर यातायात के लिए एक ओवरब्रिज का निर्माण किया जाना था, लेकिन लोड बढ़ता जा रहा है, क्योंकि एसपी रिंग रोड पर उत्तर और मध्य के अलावा सौराष्ट्र से भी वाहनों का आवागमन होता है, इसलिए ओवरब्रिज के साथ-साथ अंडरब्रिज भी बनाया जा रहा है।

स्थानीय और भारी ट्रैफ़िक का भार बढ़ने की संभावना को देखते हुए अंडरब्रिज से रिंग रोड ट्रैफ़िक, ओवरब्रिज से एसजी हाईवे ट्रैफ़िक और सतह से स्थानीय ट्रैफ़िक के प्रबंधन की योजना में बदलाव किया गया है। वैष्णोदेवी सर्किल के पास अडालज नर्मदा नहर, खोराज-खोडियार रेलवे पर मौजूदा पुल को छह लेन में परिवर्तित किया जाएगा। खोडियार कंटेनर डिपो और अदानी शांतिग्राम क्रॉस रोड पर स्थानीय यातायात के लिए अंडरपास भी स्थापित किए जाएंगे।

दिल्ली-गुड़गांव हाईवे की तर्ज पर तेज गति से चलने वाली और लोकल ट्रैफिक अलग-अलग लेन होगी।एसजी हाईवे पर 27 बड़े, 57 छोटी सड़क क्रॉसिंग को समाप्त करेगी। इस परियोजना में कुल 11 अंडरपास-फ्लाई ओवरब्रिज आकार लेंगे। सोला भागवत और ज़ायडस जंक्शन के बीच 4.18 किमी की ऊँचाई पर काम चल रहा है। वैष्णोदेवी सर्कल जंक्शन पर तीन-परत प्रणाली होगी। जैसे ही मौजूदा वैष्णोदेवी सर्किल सरखेज गांधीनगर हाईवे पर ओवरब्रिज बन जाता है, दोनों तरफ से आने वाले ट्रैफिक को नॉन-स्टॉप रूट मिल जाएगा। जूंडाल सर्किल से ओगनज सर्किल तक रिंग रोड पर यातायात वैष्णोदेवी सर्किल के नीचे अंडरपास से यात्रा कर सकेगा। वैष्णोदेवी सर्किल के आसपास के आवासीय क्षेत्र, सामाजिक, शैक्षणिक, धार्मिक संस्थानों के यातायात को थलतेज जैसी सतह पर चार दिशाओं के लिए एक रास्ता मिल जाएगा।

वैष्णोदेवी सर्किल घेरे के चारों ओर 700 मीटर के दायरे में निरमा यूनिवर्सिटी, एसजीवीपी, हीरामनी जैसे शिक्षण संस्थान हैं। 3000 से अधिक आवासों के साथ निजी अस्पताल और बड़े टाउनशिप हैं।