कांग्रेस नेताओं ने महंगाई पर लगाम लगाने प्रधानमंत्री के नाम ज्ञापन सौपा

कांग्रेस नेताओं ने महंगाई पर लगाम लगाने प्रधानमंत्री के नाम ज्ञापन सौपा

पैदल मार्च कर महंगाई व ईधनों की कीमतों में की गयी वृद्धि के खिलाफ विरोध प्रदर्शन

रायपुर, 17 जुलाई । एआईसीसी के छत्तीसगढ़ प्रभारी सचिव डॉ. चंदन यादव, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम एवं वरिष्ठ कांग्रेस नेताओं के नेतृत्व में राजधानी रायपुर में पैदल मार्च कर महंगाई व ईधनों की कीमतों में की गयी वृद्धि के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर महंगाई पर लगाम लगाने और पेट्रोल-डीजल के दाम कम करने की मांग को लेकर प्रधानमंत्री के नाम संबोधित ज्ञापन सौपा।

प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकाम की अगुवाई में कांग्रेस ने शनिवार को रायपुर में मार्च निकाला। कांग्रेस की यह पदयात्रा राजीव भवन से कलेक्ट्रेट पहुंचनी थी, लेकिन पुलिस ने करीब 2 किलोमीटर पहले ही लोक सेवा आयोग कार्यालय के पास उन्हें रोक लिया।आज दोपहर बारह बजे से कांग्रेस की पदयात्रा कलेक्ट्रेट के लिए रवाना हुई। नारे लिखी तख्तियों और कांग्रेस के झंडे के साथ प्रदेश कांग्रेस के पदाधिकारी और दूसरे जिलों से आए कार्यकर्ता सड़क पर उतरे। इस दौरान केंद्र सरकार और भाजपा के खिलाफ नारे लगे। एक बजे के करीब पदयात्रा लोक सेवा आयोग के सामने पहुंची। यहां पुलिस ने बैरीकेड लगाकर रास्ता रोक रखा था। सुरक्षा की दृष्टि से पुलिस का भारी बंदोबस्त भी था। पुलिस ने इस यात्रा को यहां से आगे जाने से मना कर दिया। उसके बाद प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकाम समेत दूसरे नेता भी वहीं सड़क पर बैठकर नारेबाजी करने लगे।आधे घंटे की नारेबाजी और प्रदर्शन के बाद कांग्रेस नेताओं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम ज्ञापन प्रशासनिक अधिकारियों को सौंपा।

ज्ञापन में कहा गया है कि भारतीय जनता पार्टी के केन्द्र सरकार ने देश को आर्थिक मंदी की ओर धकेलते हुए, रोजगार- व्यवसाय को ठप्प कर देश की अर्थव्यवस्था को चौपट कर दिया है, जिससे बेरोजगारी बढ़ रही है।छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने ज्ञापन के माध्यम से प्रधानमंत्री से मांग की है कि, देश में ईंधन/गैस पर अत्याधिक उत्पाद शुल्क वापस लेने और महामारी, आर्थिक मंदी और अभूतपूर्व बेरोजगारी के समय में पहले से ही, पीड़ित उपभोक्ताओं को राहत पहुंचाने का कृपा करें ।

प्रदर्शन में प्रदेश पदाधिकारी, महिला कांग्रेस, युवा कांग्रेस, सेवादल, एनएसयुआई, सभी जिला अध्यक्षगण, सभी मोर्चा संगठन, प्रकोष्ठ विभाग, वरिष्ठ कांग्रेसजन, कार्यकर्ता शामिल हुये।