उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी भी हुए कोरोना संक्रमित

उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी भी हुए कोरोना संक्रमित

पटना एम्स में भर्ती, ट्वीट कर कहा, जल्द लौटूंगा चुनाव प्रचार में

भाजपा सांसद राजीव रूडी व स्वास्थ मंत्री मंगल पाण्डेय भी आइसोलेट

पटना, 22 अक्टूबर (हि.स.) । बिहार के उपमुख्यमंत्री और भारतीय जनता पार्टी के दिग्गज नेता सुशील कुमार मोदी कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। उन्हें इलाज के लिए पटना एम्स में भर्ती कराया गया है। सुशील मोदी ने गुरुवार दोपहर ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी। इससे पहले भाजपा प्रवक्ता व स्टार प्रचारक शाहनवाज हुसैन भी कोरोना पॉजिटिव पाए जा चुके हैं। उन्हें भी एम्स के ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया गया है। बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय और सांसद राजीव प्रताप रूडी भी कोरोना संक्रमण हो चुके हैं और वे फिलहाल आइसोलेशन में हैं।

सुशील मोदी ने ट्वीट किया कि मैं कोरोना संक्रमित पाया गया हूं। सबकुछ नॉर्मल है। इसकी शुरुआत शरीर के तापमान में हल्की बढ़ोतरी के साथ हुई थी। बीते दो दिन से शरीर का तापमान भी सही है। मैं पटना एम्स में बेहतर इलाज के लिए भर्ती हूं। फेफड़े का सीटी स्कैन भी बिल्कुल सामान्य है। जल्द ही चुनाव प्रचार के लिए लौटूंगा। बता दें कि बिहार विधासनभा चुनाव, 2020 के लिए जमकर प्रचार चल रहा है। इस दौरान जनसभाओं में लोगों की भारी भीड़ जमा हो रही है। चुनाव प्रचार शुरू होने के बाद शाहनवाज हुसैन और अब सुशील मोदी कोरोना की चपेट में आ चुके हैं।

इससे पहले बुधवार की रात शाहनवाज हुसैन ने ट्वीट कर बताया कि मैं एम्स के ट्रामा वार्ड में भर्ती हूं। चिंता की बात नहीं है, मैं ठीक हूं। इसके कुछ ही देर बात उन्होंने ट्वीट किया कि बीते दिनों मैं कुछ ऐसे लोगों के संपर्क में आया था, जो कोरोना संक्रमित पाए गए थे। मैंने खुद भी आज जांच करायी , जिसमें मैं कोरोना पॉजिटिव पाया गया हूं। उन्होंने लिखा है कि बीते दिनों मेरे संपर्क में आए उन सभी लोगों से अनुरोध करता हूं कि कृपया वे सरकार की गाइडलाइन के अनुसार खुद की कोरोना जांच करवाएं।

गाइडलाइंस के उल्लंघन पर चुनाव आयोग सख्त

निर्वाचन आयोग ने बिहार में चुनाव प्रचार के दौरान सामजिक दूरी के नियमों का उल्लंघन करने और इससे संबंधित दिशा-निर्देशों की अवहेलना को गंभीरता से लिया है। नेताओं के बिना मास्क पहने जनसभाओं को संबोधित करने के वीडियो वायरल हुए हैं। सभी मान्यता प्राप्त राष्ट्रीय एवं राज्य स्तर की पार्टियों के अध्यक्षों और महासचिवों को जारी परामर्श में आयोग ने कहा है कि संबद्ध उम्मीदवारों एवं इस तरह के उल्लंघनों के लिए जिम्मेदार आयोजकों के खिलाफ मुख्य निर्वाचन अधिकारी (सीईओ) तथा जिला प्रशासन को दंडनीय कार्रवाई करनी चाहिए। आयोग ने कहा कि दिशा-निर्देशों के अनुपालन के लिए अलग-अलग निर्देश सीईओ और चुनाव वाले राज्यों की सरकारों को जारी किये जा रहे हैं ।