त्रिपुर सुंदरी के दर्शन के बाद उदयपुर पहुंची पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे

त्रिपुर सुंदरी के दर्शन के बाद उदयपुर पहुंची पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे

उदयपुर/बांसवाड़ा, 24 नवम्बर। पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे अपनी मेवाड़ देव दर्शन यात्रा के तहत बुधवार सुबह बांसवाड़ा में त्रिपुर सुंदरी के दर्शन उपरांत उदयपुर के लिए रवाना हुई। अपने हेलीकॉप्टर में उड़ान भर कर वे उदयपुर के झाड़ोल स्थित ब्राह्मणों का खेरवाड़ा पहुंचीं जहां उन्होंने मावली विधायक धर्मनारायण जोशी के परिवारजनों से मुलाकात की। इसके बाद वे उदयपुर शहर के लिए रवाना हो गईं।

इससे पूर्व मंगलवार शाम राजे बांसवाड़ा पहुंचीं और पूर्व मंत्री जीतमल खांट के निधन पर परिजनों से मिली और खांट को श्रद्धांजलि अर्पित की। उसके बाद वे तलवाड़ा पहुंचीं जहां पर बड़ी संख्या में उपस्थित समर्थकों एवं पार्टी पदाधिकारियों ने उनका स्वागत किया। यहां राज्यसभा सांसद हर्षवर्धन सिंह, बांसवाड़ा-डूंगरपुर सांसद कनकमल कटारा, घाटोल विधायक हरेन्द्र निनामा, भाजपा जिलाध्यक्ष गोविन्द सिंह राव सहित हजारों कार्यकर्ता उपस्थित थे। उसके बाद पूर्व मुख्यमंत्री राजे बांसवाड़ा पहुंची यहां पर भी हजारों की संख्या में उनके समर्थक स्वागत के लिए घंटों खड़े रहे।

राजे ने बांसवाड़ा में पूर्व मंत्री भवानी जोशी के भाई के निधन पर शोक संतप्त परिवार को सांत्वना दी एवं पुष्पांजलि अर्पित की। इस तरह राजे ने उनके निकटस्थ रहे मंत्री धन सिंह रावत के निवास पर जाकर भी परिजनों से भेंट की।

मंगलवार देर रात त्रिपुर सुंदरी मंदिर पहुंचीं एवं पूजा अर्चना की। इस दौरान राजे ने बताया कि यह कोई राजनीतिक यात्रा नहीं है। वह केवल कोविड काल में कार्यकर्ताओं एवं पदाधिकारियों के परिजनों की मौत पर उनके दुख दर्द में शामिल होने के लिए निकली हैं, इसमें कोई राजनीतिक संदेश नहीं है।