तृणमूल और भाजपा ने एक दूसरे पर लगाया आचार संहिता के उल्लंघन करने का आरोप, चुनाव आयोग तक पहुंचीं शिकायतें

तृणमूल और भाजपा ने एक दूसरे पर लगाया आचार संहिता के उल्लंघन करने का आरोप, चुनाव आयोग तक पहुंचीं शिकायतें

ओम प्रकाश

कोलकाता, 30 मार्च । पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के लिए दूसरे चरण के मतदान के लिए प्रचार आज शाम को बंद हो जायेगा। चुनाव के लिए सत्तारूढ़ पार्टी तृणमूल कांग्रेस और भाजपा के बीच जुबानी हमला तेज हो गया है। दोनों एक दूसरे पर चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन करने का आरोप भी लगा रहे हैं। दोनों दलों ने इस संबंध में चुनाव आयोग से शिकायत भी की है।

मंगलवार को तृणमूल ने पीएम नरेन्द्र मोदी पर उनकी बांग्लादेश यात्रा के दौरान आचार संहिता का उल्लंघन करने आरोप लगाते हुए चुनाव आयोग से शिकायत की है। चुनाव आयोग को लिखे पत्र में टीएमसी ने कहा कि पीएम मोदी को 26-27 मार्च को बांग्लादेश दौरे पर गए थे। उन्हें बांग्लादेश की स्वतंत्रता के 50वें सालगिरह के मौके और बंगबंधु शेख मुजबीर रहमान की जन्मशतीं के कार्यक्रम में भी शामिल होना था। अपने पत्र में तृणमूल ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी के आधिकारिक दौर को लेकर हमें कोई आपत्ति नहीं है, क्योंकि बांग्लादेश के विभाजन में भारत ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। टीएमसी ने मोदी के बांग्लादेश में 27 मार्च के कार्यक्रमों पर आपत्ति जाहिर की। उसका बांग्लादेश की 50वां स्वतंत्रता दिवस या बंगबंधु की जन्मशती से कोई संबंध नहीं था बल्कि इसका पूर्णरूप से मकसद पश्चिम बंगाल विधानसभा को लेकर जारी चुनाव के बीच कुछ निश्चित विधानसभा क्षेत्र के वोटिंग पैटर्न को प्रभावित करने की मंशा थी।प्रधानमंत्री को इस तरह के अनैतिक और अलोकतांत्रिक कृत्य में शामिल नहीं होना चाहिए और यह परोक्ष तौर पर विदेशी जमीन से पार्टी के लिए चुनाव प्रचार है, जो आदर्श चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन है।

भाजपा ने टीएमसी के आरोपों पर पलटवार करते हुए मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर भी चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन करने का आरोप लगाया। भाजपा ने चुनाव आयोग को भेजे शिकायती पत्र में हिंसा फैलाने का आरोप लगाते हुए कहा कि ममता बनर्जी धमकी भरे वक्तव्य का इस्तेमाल कर रही हैं। भाजपा के नेता शिशिर बाजोरिया और एमपी अर्जुन सिंह ने मंगलवार को राज्य के मु्ख्य चुनाव अधिकारी को ज्ञापन देते हुए कहा कि मुख्यमंत्री धमकाने वाली भाषा का इस्तेमाल कर रही हैं। आज लोगों को धमकाया जा रहा है कि चुनाव के बाद वही मुख्यमंत्री रहेंगी। भाजपा ने आरोप लगाया कि बैरकपुर पुलिस कमिशनरेट इलाके में प्रत्येक दिन बमबाजी हो रही है, जिससे तीन घर क्षतिग्रस्त हो गये हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि टीएमसी के गुंडे दो शवों को लेकर भाग गए हैं। इस संबंध में पुलिस कोई कार्रवाई नहीं कर रही है। टीएमसी के लोग फिर से अशांति फैलाने की कोशिश कर रहे हैं। चुनाव आयोग को तत्काल कदम उठाना चाहिए।