हम डंडे वाली नहीं, प्रेम वाली संस्कृति में विश्वास करते हैं : मोहन भागवत

हम डंडे वाली नहीं, प्रेम वाली संस्कृति में विश्वास करते हैं : मोहन भागवत

मनोज

मुजफ्फरपुर, 14 फरवरी। आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने कहा कि हम डंडे वाली नहीं बल्कि प्रेम वाली संस्कृति में विश्वास करते हैं। मुजफ्फरपुर के कलमबाग चौक पर संस्कृति उत्थान समिति की ओर से रविवार को निर्मित उत्तर बिहार के प्रांतीय कार्यालय मधुकर निकेतन के लोकार्पण समारोह में उन्होंने यह बात कही। उन्होंने संघ की गतिविधियों व शाखा से व्यक्ति निर्माण विषय पर चर्चा की।

आरएसएस प्रमुख ने कहा कि मानवता और देश की रक्षा हमारा धर्म है। उन्होंने कहा कि पिछले पांच हजार वर्षों में आए उतार-चढ़ाव के बावजूद हदू समाज के जीवन मूल्य अबतक नहीं बदले हैं। भारतीय संस्कृति अब भी मजबूती से खड़ी है। पहले भी हमारे पास बल था, आज भी बल है और आगे भी रहेगा। यूनान, मिस्र, रोम सब मिट गए जहां से, कुछ बात है कि हस्ती मिटती नहीं हमारी।

बता दें कि संघ प्रमुख मोहन भागवत तीन दिवसीय दौरे पर मुजफ्फरपुर आए हैं। इस दौरान संघ के सदस्यों के साथ बातचीत की तथा जिले के औराई क्षेत्र में गोपाल शाही के यहां जाकर उनके जैविक उद्यान को भी देखा। इसके बाद जिले के कलमबाग चौक स्थित संघ कार्यालय का लोकार्पण किया।

इस अवसर पर बिहार के उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद ,बिहार के भाजपा प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल, बिहार सरकार में मंत्री रामसूरत राय और प्रमोद कुमार के साथ-साथ केंद्रीय मंत्री नित्यानंद राय भी उपस्थित थे ।