होली व शब-ए-बारात पर्वों पर गिरी कोरोना की गाज

होली व शब-ए-बारात पर्वों पर गिरी कोरोना की गाज

जयपुर, 25 मार्च । कोरोना महामारी के नए मरीजों में हो रही लगातार बढ़ोतरी के कारण इस साल होली व शब-ए-बारात का पर्व पर गाज गिर गई है। इस साल यह पहला मौका है जब कोरोना के कारण किन्हीं पर्वों के सार्वजनिक कार्यक्रमों पर सख्ती की गई है। इन पर्वों पर एकत्र होने वाली भीड़ को थामने के लिए सरकार ने दोनों पर्वों पर सार्वजनिक कार्यक्रम करने तथा भीड़ इकट्ठी करने पर रोक लगा दी है।

गृह विभाग की ओर से जारी किए गए आदेश में 28 और 29 मार्च को सार्वजनिक स्थानों, सार्वजनिक ग्राउंड्स, पब्लिक पार्क, बाजार और धार्मिक स्थलों पर किसी भी प्रकार के आयोजनों पर रोक लगाई गई है। हाल ही में गृह विभाग ने कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए नई गाइडलाइन जारी कर कई पाबंदियां लगाई थी। इसके बाद अब राज्य सरकार ने सार्वजनिक स्थलों पर सार्वजनिक रूप से एकत्र होकर होली खेलने और शब-ए-बारात का सार्वजनिक आयोजन करने की इजाजत नहीं है। भीड़ इकठ्ठा करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की चेतावनी दी गई है। इस दौरान किसी भी सार्वजनिक स्थान, पार्क, मार्केट या धार्मिक स्थान पर सार्वजनिक उत्सव आयोजित करने पर रोक रहेगी।

गृह विभाग ने सभी कलेक्टरों और जयपुर-जोधपुर के पुलिस कमिश्नरों को होली और शब-ए-बारात पर सार्वजनिक कार्यक्रम करने वालों के खिलाफ राजस्थान महामारी अधिनियम 2020 और आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 के प्रावधान के तहत कड़ी कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं।

राज्य में कोरोना महामारी से पीडित नए मरीज लगातार बढ़ रहे हैं। इस साल बुधवार को ही अब तक के सर्वाधिक 669 नए मरीज मिले है। जबकि, कोरोना के सक्रिय केस बढक़र 4672 हो चुके हैं। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत गुजरे सात दिनों से लगातार सोशल मीडिया समेत अन्य संसाधनों से आमजन को मास्क लगाने, जरूरी सावधानियां बरतने तथा कोरोना प्रोटोकॉल की पालना करने की अपील कर रहे हैं।