राजस्थान में खुल गए स्कूल, शिक्षकों से पहले पहुंच गए बच्चे

राजस्थान में खुल गए स्कूल, शिक्षकों से पहले पहुंच गए बच्चे

उदयपुर, 01 सितम्बर । कोरोना के दौरान बंद हुए स्कूल बुधवार से पुनः खुल गए। 9वीं से 12वीं तक के बच्चों के लिए राजस्थान में स्कूल खोल दिए गए। स्कूल खुलने की खुशी का आलम यह था कि शिक्षकों से पहले बच्चे स्कूल पहुंच गए। आखिर बच्चों को अपने स्कूल खुलने का बेसब्री से इंतजार था। ऑनलाइन पढ़ने में दोस्तों के साथ गपशप मारने, टिफिन शेयर करने, खेलने, हंसी-ठिठोली करने का वास्तविक आनंद कहां..?

हालांकि, इस बार स्कूल खुलने में 9वीं और 11वीं को सुबह जल्दी बुलाया गया है और 10वीं और 12वीं वालों का समय बाद का रखा गया है। जबकि, शिक्षा विभाग के नियमों के अनुसार उच्चतर कक्षाओं का समय सुबह जल्दी का रखा जाना चाहिए और छोटी कक्षाओं का समय उसके बाद रहना चाहिए। अभी की व्यवस्था में छोटी कक्षा वाले स्कूल में पहले पहुंचे हैं। नियमों को एक ओर रख दिया जाए तो स्कूल की टाइमिंग से किसी को कोई सरोकार नहीं है। बच्चों के लिए तो स्कूल खुलना ही सबसे बड़ा तोहफा है।

स्कूल खोलने के दौरान कोरोना का विशेष ध्यान रखा जाना जरूरी है। कोविड गाइड लाइन का पूरा पालन किए जाने के निर्देश जाीर किए गए हैं। बच्चों को पानी घर से लेकर आना होगा, सोशल डिस्टेंसिंग की पालना की जाएगी और उन्हें मास्क पहनकर स्कूल आना होगा। लंच भी बच्चा अपनी सीट पर करेगा। वह किसी के भी साथ लंच शेयर नहीं करेगा। यदि कोई बच्चा मास्क लेकर नहीं आता है तो स्कूल की ओर से उसे मास्क उपलब्ध कराया जाएगा। साथ ही स्कूल में हाथ धोने की भी माकूल व्यवस्था होगी। स्कूलों को सैनेटाइज भी कराया जाएगा। कक्षा में बच्चों को क्षमता के अनुसार 50 फीसदी बिठाया जाएगा।