रायपुर : पांच लाख से अधिक किसानों को मिल रही निःशुल्क एवं रियायती बिजली

रायपुर : पांच लाख से अधिक किसानों को मिल रही निःशुल्क एवं रियायती बिजली

रायपुर, 9 दिसंबर । छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा राज्य में कृषि पम्पों के माध्यम से सिंचाई सुविधा उपलब्ध कराने के उद्देश्य से पांच लाख 81 हजार किसानों को निःशुल्क एवं रियायती दर पर बिजली उपलब्ध कराई जा रही है। बीते तीन सालों में 60 हजार स्थायी कृषि पम्पों को विद्युत कनेक्शन प्रदाय कर ऊर्जीकृत किया गया है।

रायपुर : पांच लाख से अधिक किसानों को मिल रही निःशुल्क एवं रियायती बिजली

रायपुर, 9 दिसंबर । छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा राज्य में कृषि पम्पों के माध्यम से सिंचाई सुविधा उपलब्ध कराने के उद्देश्य से पांच लाख 81 हजार किसानों को निःशुल्क एवं रियायती दर पर बिजली उपलब्ध कराई जा रही है। बीते तीन सालों में 60 हजार स्थायी कृषि पम्पों को विद्युत कनेक्शन प्रदाय कर ऊर्जीकृत किया गया है।

छत्तीसगढ़ शासन द्वारा कृषि पंप ऊर्जीकरण योजना के अंतर्गत विद्युत लाईनों के विस्तार हेतु प्रति पम्प एक लाख अनुदान राशि उपलब्ध कराई जा रही है। वर्तमान में स्थायी एवं अस्थायी पंप कनेक्शन के लगभग पांच लाख 81 हजार से अधिक ऊर्जीकृत कृषि पम्प हैं। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की घोषणा के परिपालन में 30 नवंबर 2021 की स्थिति में 23,985 पंपों के लाईन विस्तार कार्य पूरा कर लिया गया है, शेष कनेक्शन का कार्य आगामी तीन माह में पूरा किया जाने का लक्ष्य है।

राज्य शासन द्वारा कृषकों को वित्तीय राहत प्रदाय किये जाने के उद्देश्य से कृषक जीवन ज्योति योजना के अंतर्गत पात्र कृषकों को 3 अश्वशक्ति तक कृषि पम्प के बिजली बिल में छ: हजार यूनिट प्रति वर्ष एवं तीन से पांच अश्वशक्ति के कृषि पप के बिजली बिल में 7500 यूनिट प्रति वर्ष छूट दी जा रही है। इस छूट के अलावा कृषकों को फ्लेट रेट दर पर बिजली प्राप्त करने का विकल्प भी दिया गया है। शासन द्वारा अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति के किसानों के लिए विद्युत खपत की कोई सीमा नहीं रखी गई है। उनके द्वारा खेती में उपयोग की जा रही पूरी बिजली को निःशुल्क रखा गया है। वर्तमान में इस योजना के अंतर्गत पांच लाख 81 हजार किसान हितग्राही लाभान्वित हो रहें हैं।

छत्तीसगढ़ शासन द्वारा कृषि पंप ऊर्जीकरण योजना के अंतर्गत विद्युत लाईनों के विस्तार हेतु प्रति पम्प एक लाख अनुदान राशि उपलब्ध कराई जा रही है। वर्तमान में स्थायी एवं अस्थायी पंप कनेक्शन के लगभग पांच लाख 81 हजार से अधिक ऊर्जीकृत कृषि पम्प हैं। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की घोषणा के परिपालन में 30 नवंबर 2021 की स्थिति में 23,985 पंपों के लाईन विस्तार कार्य पूरा कर लिया गया है, शेष कनेक्शन का कार्य आगामी तीन माह में पूरा किया जाने का लक्ष्य है।

राज्य शासन द्वारा कृषकों को वित्तीय राहत प्रदाय किये जाने के उद्देश्य से कृषक जीवन ज्योति योजना के अंतर्गत पात्र कृषकों को 3 अश्वशक्ति तक कृषि पम्प के बिजली बिल में छ: हजार यूनिट प्रति वर्ष एवं तीन से पांच अश्वशक्ति के कृषि पप के बिजली बिल में 7500 यूनिट प्रति वर्ष छूट दी जा रही है। इस छूट के अलावा कृषकों को फ्लेट रेट दर पर बिजली प्राप्त करने का विकल्प भी दिया गया है। शासन द्वारा अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति के किसानों के लिए विद्युत खपत की कोई सीमा नहीं रखी गई है। उनके द्वारा खेती में उपयोग की जा रही पूरी बिजली को निःशुल्क रखा गया है। वर्तमान में इस योजना के अंतर्गत पांच लाख 81 हजार किसान हितग्राही लाभान्वित हो रहें हैं।