मुख्यमंत्री ने किया पर्यटन वर्ष 2020-21 के लिए काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान उद्घाटन

मुख्यमंत्री ने किया पर्यटन वर्ष 2020-21 के लिए काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान उद्घाटन

-काजीरंगा के खुलने से राज्य के पर्यटन उद्योग को पुनर्जीवित करने में मिलेगी मदद: सीएम

काजीरंगा, 21 अक्टूबर । मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल ने बुधवार को पर्यटन वर्ष 2020-21 के लिए पर्यटकों की खातिर राष्ट्रीय उद्यान काजीरंगा का औपचारिक रूप से उद्घाटन किया। जीप सफारी आज से राष्ट्रीय उद्यान के कोंहरा और बागरी रेंज में शुरू की गयी, जबकि अन्य दो रेंज में नवंबर से आगंतुकों के लिए खोले जाएंगे, जहां हाथी सफारी भी शुरू की जाएगी।

मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर मीडियाकर्मियों को संबोधित करते हुए कहा कि बुधवार से राष्ट्रीय उद्यान पर्यटकों के लिए खोल दिया गया है। घरेलू और विदेशी दोनों क्षेत्रों के पर्यटकों का अच्छी तादाद में आवागमन होगा। उन्होंने आशा व्यक्त की कि उद्घाटन के साथ कोरोना के चलते लागू लॉकडाउन की स्थिति के बाद असम के पर्यटन क्षेत्र को पुनर्जीवित किया जा सकेगा। उन्होंने आशा व्यक्त किया कि काजीरंगा और उसके आसपास के बेरोजगार युवाओं को जीप सफारी और अन्य पर्यटन गतिविधियों के माध्यम से फिर से सार्थक रोजगार मिलेगा।

कोरोना के चलते युवाओं को आर्थिक तनाव को कम करने के लिए राज्य सरकार द्वारा जीप सफारी में लगे लोगों को एक बार प्रदान की गई वित्तीय सहायता का उल्लेख करते हुए सोनोवाल ने कहा कि राज्य सरकार भविष्य में पर्यटन के क्षेत्र में लगे लोगों को राहत प्रदान करने के लिए इस तरह की और पहल करेगी। उन्होंने काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान के पांच जिलों के लोगों और पार्क के आसपास के इलाकों में रहने वाले स्थानीय समुदायों को बाहर से आने वाले आगंतुकों के लिए पूर्ण आतिथ्य प्रदान करने का भी आह्वान किया, ताकि राज्य की अच्छी तस्वीर बाहर पेश की जा सके।

मुख्यमंत्री ने गत साढ़े चार वर्षों में गैंडों के अवैध शिकार को रोकने के लिए राज्य सरकार की उपलब्धि पर भी प्रकाश डाला और उन्होंने आस-पास के लोगों को अवैध शिकार को समाप्त करने में अपना पूरा सहयोग देने के लिए धन्यवाद दिया। उन्होंने लोगों से काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान और पर्यटकों के ऐसे अन्य स्थानों पर जाने में सभी कोरोना प्रोटोकॉल को बनाए रखने का भी आह्वान किया ताकि, महामारी के प्रसार को फैलने से रोका जा सके।

उन्होंने मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के राष्ट्र के संबोधन का भी उल्लेख किया, जिसमें आगामी त्यौहार अवधि के दौरान कोरोना के प्रसार को फैलने से रोकने के लिए सभी को जागरूक होने की आवश्यकता को रेखांकित किया। राज्य के पर्यटन क्षेत्र से जुड़े सभी से कोरोना नियमों को सख्ती से लागू करने का आग्रह किया। उन्होंने मीडियाकर्मियों से वर्ष 2020-21 के लिए काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान के उद्घाटन की खबर प्रसारित करने का भी आग्रह किया, ताकि देश और विदेश के विभिन्न स्थानों से पर्यटक आ सकें और असम के पुनरुद्धार में योगदान देते हुए पार्क की प्राकृतिक सुंदरता का आनंद ले सकें, जिससे पर्यटन उद्योग फिर से पटरी पर लौट सके।

मुख्यमंत्री ने राष्ट्रीय उद्यान में एक जीप सफारी का आनंद लिया। उनके साथ बोकाखात के स्थानीय विधायक और कृषि मंत्री अतुल बोरा, जल संसाधन मंत्री केशव महंत, उद्योग और वाणिज्य मंत्री चंद्र मोहन पटवारी, विधायक ऋतुपर्णा बरुआ, पीसीसीएफ (वाइल्ड लाइफ) एएम सिंह भी मौजूद थे।