बलविंदर सिंह की पत्नी को ममता ने उपहार स्वरूप दिया वस्त्र, डीजी ने दिया न्याय का आश्वासन

कोलकाता, 17 अक्टूबर । भारतीय जनता पार्टी के सचिवालय घेराव अभियान के दौरान राज्य पुलिस द्वारा जिस सिख जवान बलविंदर सिंह की पगड़ी घसीट कर गिराई गई थी, उनकी पत्नी करमजीत कौर को मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने उपहार स्वरूप वस्त्र भेंट किया है। इसके साथ ही पुलिस महानिदेशक वीरेंद्र कुमार ने बलविंदर सिंह के मामले में न्याय का आश्वासन भी दिया है। दरअसल बलविंदर सिंह भारतीय सेना के राष्ट्रीय राइफल्स बटालियन से सेवानिवृत्त सैनिक हैं। उनके पास लाइसेंसी गन थी और सेवानिवृत्त होने के बाद भारतीय जनता युवा मोर्चा के नेता प्रियांग्शु पांडे की सुरक्षा में तैनात थे। गत आठ अक्टूबर को जब भारतीय जनता पार्टी सचिवालय घेराव करने जा रही थी तब वह पांडे की सुरक्षा में मौजूद थे। उसी दौरान बंगाल पुलिस ने उनकी बंदूक छीन ली थी और उन्हें घसीटते हुए उनकी पगड़ी गिरा दी थी। उनके केशों को पकड़कर उन्हें पुलिस वैन में डाला गया था जिसे लेकर देशभर के सिख समुदाय ने गुस्सा जाहिर किया था। उनकू बंदूक का लाइसेंस जम्मू -कश्मीर से जारी हुआ है इसके आधार पर बंगाल पुलिस दावा कर रही है कि बलविंदर सिंह की बंदूक केवल जम्मू -कश्मीर में इस्तेमाल की जा सकती है, बंगाल में इसे अवैध तरीके से लाया गया है। फिलहाल वह पुलिस हिरासत में हैं और देश भर से उन्हें रिहा करने की मांग की जा रही है। बलविंदर की पत्नी कर्मजीत कौर ने बेटे के साथ मुख्यमंत्री दफ्तर के बाहर धरने पर बैठने की चेतावनी दी थी। आज ही वह धरना देने वाली थीं। उसके पहले ही पुलिस महानिदेशक विरेंद्र कुमार ने उनसे मुलाकात की है और आश्वस्त किया है कि अगर बलविंदर सिंह के साथ किसी भी पुलिसकर्मी ने किसी भी तरह का दुर्व्यवहार किया है तो निश्चित तौर पर उसके खिलाफ कार्रवाई होगी। इसके अलावा मुख्यमंत्री ममता बनर्जी द्वारा भिजवाए गए कपड़े को भी उन्होंने करमजीत को उपहार स्वरूप दिया है। इधर दिल्ली गुरुद्वारा प्रबंधन समिति के अध्यक्ष मनजिंदर सिंह सिरसा ने इस पहल के लिए ममता बनर्जी का आभार जताया है और दुर्गा पूजा से पहले कपड़े देने के लिए बधाई भी दी है।