मानव मात्र की पीड़ा को कम करने में नर्सिंग प्रोफेशन प्रेरणादायी- मंत्री मेघवाल

बीकानेर, 12 मई । आपदा प्रबंधन मंत्री गोविंद राम मेघवाल ने कहा कि मानव मात्र की पीड़ा को कम करने में नर्सिंग प्रोफेशन अन्य वर्ग के लिए प्रेरणा का स्रोत है। अंतराष्ट्रीय नर्सिंग दिवस के अवसर पर रविंद्र मंच में गुरुवार को आयोजित कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में मेघवाल ने कहा कि नर्सिंग कार्मिक मानव समाज को देखभाल और स्नेह के बंधन से बांधते हैं। नर्सिंग देखभाल के साथ- साथ मार्मिक कहानियों और चुनौतियों के बीच एक सेतु का कार्य करता है।

उन्होंने उपस्थित नर्सिंगकार्मिकों को बधाई देते हुए कहा कि यह एकमात्र ऐसा पेशा है जिसमें व्यक्ति अपनी आजीविका के साथ-साथ सेवा करता है। कोरोना काल में नर्सिंग कर्मियों के योगदान की सराहना करते हुए उन्होंने कहा कि लाखों जीवन बचाने के लिए नर्सिंग कर्मियों ने जिस संवेदनशीलता और निष्ठा के साथ काम किया इसके लिए उनकी जितनी प्रशंसा की जाए, कम है। उन्होंने कहा कि सेवा भाव किस प्रकार जाति और धर्म से उपर उठ कर किया जाता है, नर्सिंग कार्मिक प्रतिदिन इसके उदाहरण प्रस्तुत करते हैं।

कार्यक्रम में नोखा नगरपालिका अध्यक्ष नारायण झंवर, सरदार पटेल मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ मोहम्मद सलीम, राजकीय नर्सिंग कालेज प्राचार्य नरेंद्र कौशिक ने भी विचार रखे। पीबीएम वेलफेयर कमेटी के अध्यक्ष सतीश कुमार ने स्वागत उद्बोधन दिया। इस अवसर पर उल्लेखनीय कार्य करने वाले नर्सिंग कर्मियों को सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में अतिरिक्त संभागीय आयुक्त ए एच गौरी, अधीक्षक पीबीएम डॉ प्रमोद कुमार सैनी भी उपस्थित थे। राजकीय नर्सिंग स्कूल के अब्दुल वाहिद ने नर्सिंगकर्मियों की मांगे रखी। कार्यक्रम में बड़ी संख्या में नर्सिंगकर्मी व विद्यार्थियों ने भाग लिया। कार्यक्रम का संचालन संजय पुरोहित ने किया।