डिंग्को सिंह के निधन पर मैरी कॉम और विजेंदर सिंह ने जताया शोक

डिंग्को सिंह के निधन पर मैरी कॉम और विजेंदर सिंह ने जताया शोक

नई दिल्ली,10 जून । भारत के पूर्व मुक्केबाज और एशियाई खेलों के स्वर्ण पदक विजेता डिंग्को सिंह का लंबी बीमारी के बाद गुरुवार को निधन हो गया। वह 42 वर्ष के थे।

भारत के अब तक के सबसे बेहतरीन मुक्केबाजों में से एक माने जाने वाले डिंग्को ने 1998 के बैंकाक एशियाई खेलों में स्वर्ण पदक जीता था। डिंग्को सिंह के निधन पर ओलंपिक में भारत के लिए पदक जीतने वाले मुक्केबाज विजेंदर सिंह और छह बार की विश्व चैंपियन दिग्गज महिला मुक्केबाज मैरी कॉम ने शोक जताया है।

विजेंदर सिंह ने ट्वीट किया, डिंग्को सिंह के निधन पर मेरी गहरी संवेदना। डिंग्को ने पूरे जीवन संघर्ष किया। मैं प्रार्थना करता हूं कि उनके परिवार को इस दुख की घड़ी में उबरने की शक्ति दे। डिंग्को सिंह हमेशा मेरे प्रेरणास्रोत रहेंगे।

वहीं, मैरी कॉम ने कहा कि डिंग्को भले ही चले गए हों लेकिन उनकी विरासत हमेशा हमारे बीच रहेगी।

मैरी कॉम ने ट्वीट किया, आप हमारे देश के सच्चे नायक थे। आप चले जाएं लेकिन आपकी विरासत हमारे बीच रहेगी। विनम्र श्रद्धांजलि।

भारतीय खेल प्राधिकरण (साई) ने भी पद्म श्री और अर्जुन पुरस्कार विजेता मुक्केबाज के निधन पर शोक व्यक्त किया।

साई मीडिया ने ट्वीट किया, पद्म श्री और अर्जुन पुरस्कार विजेता मुक्केबाज डिंग्को सिंह के निधन के बारे में सुनकर दुख हुआ। 1998 के एशियाई खेलों में उनका स्वर्ण पदक भारतीय खेल इतिहास में एक शानदार क्षण है। हम उनके परिवार और दोस्तों के प्रति संवेदना व्यक्त करते हैं। .

डिंग्को सिंह मई 2020 में कोरोनावायरस से संक्रमित हो गए थे, लेकिन जल्द ही ठीक हो गए। पिछले साल अप्रैल में, डिंग्को को उसके लीवर कैंसर के इलाज के लिए इम्फाल से राष्ट्रीय राजधानी में एयरलिफ्ट किया गया था। करीब 42 साल के डिंग्को सिंह ने आज यानी गुरुवार को दम तोड़ दिया।