धमतरी : ग्राम पंचायतों की महिलाएं समूह का गठन कर हो रही आत्मनिर्भर

धमतरी : ग्राम पंचायतों की महिलाएं समूह का गठन कर हो रही आत्मनिर्भर

बोरझरा के आंगनबाड़ी में सब्जी व फलदार पौधों का किया गया रोपण

धमतरी 23 जून छत्तीसगढ़ के धमतरी जिले के कई ग्राम पंचायतों में महिलाएं समूह का गठन कर आत्मनिर्भर बन रही हैं। कुरुद ब्लाक के ग्राम बोरझरा की जय मां शारदा स्व सहायता समूह की महिलाओं द्वारा बोरझरा के आंगनबाड़ी में सब्जी व फलदार पौधों का रोपण किया गया।

समूह की सदस्य निर्मला रात्रे ने बताया कि समूह का गठन चार जून 2014 को हुआ है, तब से समूह की महिलाएं प्रत्येक सप्ताह 25 रुपये की बचत कर रही हैं। बचत के साथ ही यह समूह आजीविका के क्षेत्र में भी काम कर रही है। स्व सहायता समूह की महिलाएं विभिन्न प्रकार के आजीविका कर रही हैं। इसी के तहत ग्राम बोरझरा के मां शारदा स्व सहायता समूह की महिलाओं ने मिलकर आंगनबाड़ी में विभिन्न प्रकार के सब्जियों की बोआई की है। समूह से जुड़ी महिलाओं को खेती किसानी के साथ ही विभिन्न आवश्यकताओं पर समूह से ही महज दो प्रतिशत ब्याज दर पर ऋण उपलब्ध करवाया जाता है, जिससे समूह की महिलाओं को अधिक ब्याज दर पर अन्य स्थान से कर्ज लेने की आवश्यकता नहीं पड़ती। समूह द्वारा पूरक पोषण आहार का संचालन किया जा रहा है। सरकार की योजना के अनुसार आंगनबाड़ी परिसर में विभिन्न प्रकार की सब्जियां एवं फलदार पौधों का रोपण किया गया है। कार्य को सफल बनाने आंगनबाड़ी कार्यकर्ता अनुसुइया रात्रे, सहायिका,शांता साहू, अध्यक्ष रेवती साहू, उर्वशी सिन्हा, पद्मनी साहू, हेमलता साहू, सुलेना साहू, ग्वालिन साहू व मानकी साहू जुटी रहती हैं।

उल्लेखनीय है कि छत्तीसगढ़ सरकार के सपनों को साकार करने और नरुवा, घुरवा, गरुवा, बारी योजना को सफल बनाने के लिए ग्राम स्तर पर स्वसहायता समूह की महिलाएं आगे आ रही हैं।