पांच राज्यों में चुनिंदा सीटों पर चुनाव लड़ेगी माले

पांच राज्यों में चुनिंदा सीटों पर चुनाव लड़ेगी माले

रांची, 17 जनवरी (हि.स.)। भाकपा माले पांच राज्यों में चुनिंदा सीटों पर चुनाव लड़ेगी। पार्टी के के राष्ट्रीय महासचिव दीपांकर भट्टाचार्य ने कहा है कि हम पूरी ताकत के साथ भाजपा के खिलाफ इन चुनावों में अभियान संचालित करेंगे। पार्टी तमाम भाजपा विरोधी ताकतों से एकजुट होकर भाजपा की पराजय सुनिश्चित करने की अपील भी करेगी।

भट्टाचार्य सोमवार को रांची में मीडिया से बात कर रहे थे। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में बदलाव का माहौल स्पष्ट तौर पर दिख रहा है। योगी सरकार को दलितों-पिछड़ों और अल्पसंख्यकों पर हुए जुल्मों का खामियाजा विधानसभा चुनाव में भुगतान होगा।

उन्होंने ओ़डिशा के धिनकिया में जिंदल के लिए चल रहे भूमि अधिग्रहण के खिलाफ आंदोलन पर पुलिसिया दमन की निंदा की। उन्होंने कहा कि भाकपा माले विधायक विनोद सिंह, मासस के पूर्व विधायक अरूप चटर्जी और राष्ट्रीय आदिवासी संघर्ष मोर्चा के देवकीनंदन बेदिया के नेतृत्व एक टीम 21 जनवरी को घटना स्थल का दौरा करेगी।भट्टाचार्य ने छह साल पहले रोहित वेमुला की सांस्थानिक हत्या को याद करते हुए कहा कि विभिन्न शिक्षण संस्थानों में जातीय भेदभाव और उत्पीड़न को समाप्त करने के लिए रोहित एक्ट अभी तक लागू नहीं हुआ है और छात्र समुदाय इसे लागू करने की मांग कर रहा है।

झारखंड की राजनीतिक परिस्थितियों की चर्चा करते हुए उन्होंने धनबाद में भाजपा नेताओं के जरिए एक व्यक्ति का मॉब लिंचिंग और महिलाओं पर बढ़ते हमलों पर चिंता व्यक्त की। हेमंत सरकार के दो साल के काम के बारे में उन्होंने कहा कि रोजगार के सवाल पर अनुबंधकर्मियों के लंबित मांगों पर राज्य के बड़े हिस्से में असंतोष है। जिन उम्मीदों को लेकर जनता ने रघुवर सरकार को हटाकर हेमंत सोरेन को मौका दिया है, हेमंत सोरेन इन्हें पूरी करने के प्रति गंभीरता दिखाएं।

मीडिया से बाचीत में पार्टी के झारखंड राज्य सचिव मनोज भक्त, पोलित ब्यूरो सदस्य जनार्दन प्रसाद और एपवा राज्य सचिव गीता मंडल भी मौजूद थे। भाकपा महासचिव पूर्व विधायक महेंद्र सिंह के शहादत दिवस के अवसर पर संकल्प सभा में भाग लेने बगोदर आए हुए थे। वहां उन्होंने शहीद महेंद्र सिंह की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया और उनकी पत्नी और वर्तमान विधायक विनोद सिंह की मां की अंत्येष्टि में भी हिस्सा लिया।