हरियाणा में किसानों के साथ हुई हिंसा की मुख्यमंत्री गहलोत ने की निंदा

हरियाणा में किसानों के साथ हुई हिंसा की मुख्यमंत्री गहलोत ने की निंदा

जयपुर, 31 अगस्त । मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने हरियाणा के करनाल में किसानों के साथ हुई हिंसा की निंदा की है।

मुख्यमंत्री गहलोत ने मंगलवार को एक ट्विट कर कहा कि हरियाणा के करनाल में जिस तरह किसानों के साथ हिंसा की गई वह निंदनीय है। ऐसी क्रूर कार्रवाइयों से देशभर में किसानों को भड़काने का माहौल बनाया जा रहा है। हरियाणा के मुख्यमंत्री एवं उपमुख्यमंत्री अलग-अलग तरह से बयान दे रहे हैं जिसका कोई अर्थ ही नहीं निकल रहा है।

उन्होंने कहा कि हरियाणा सरकार के अधिकारी किसानों पर हिंसात्मक कार्रवाई के निर्देश दे रहे हैं जिस पर पूरे देश में प्रतिक्रिया हो रही है लेकिन ऐसे अधिकारियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हुई है। मोदी सरकार किसानों के सब्र का इम्तिहान ना लेकर तुरंत कृषि कानूनों को निरस्त कर किसानों से माफी मांगे।सांप्रदायिकता को बढ़ावा दे रही मध्य प्रदेश एवं उत्तर प्रदेश सरकार

मुख्यमंत्री ने एक अन्य ट्विट में मध्यप्रदेश और उत्तरप्रदेश में धर्म के आधार पर गरीब दिहाड़ी मजदूरों, ठेला लगाने वाले एवं रेहड़ी-पटरी वालों के साथ मारपीट को चिंताजनक बताया है।

गहलोत ने कहा कि सोशल मीडिया पर मध्य प्रदेश एवं उत्तर प्रदेश से लगातार ऐसे वीडियो आ रहे हैं जहां धर्म के आधार पर गरीब दिहाड़ी मजदूरों, ठेला लगाने वाले एवं रेहड़ी-पटरी वालों के साथ मारपीट की जा रही है। यह स्थिति और भी चिंताजनक है कि ऐसी घटनाओं पर वहां की सरकारें कोई कार्रवाई नहीं कर रही हैं।

घटना होना एक बात है लेकिन इन पर कार्रवाई ना कर सांप्रदायिकता को बढ़ावा दिया जा रहा है। यह संविधान के आर्टिकल 15 एवं आर्टिकल 25 का भी उल्लंघन है। भारत जैसे पंथनिरपेक्ष लोकतांत्रिक देश में ऐसी घटना होना एवं उन पर पुख्ता कार्रवाई ना होना बेहद दुखद है। राजस्थान में ऐसी किसी भी घटना को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने का प्रयास करने वाले लोगों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी।