इस बार जलेगी वैदिक होली

इस बार जलेगी वैदिक होली

बांसवाड़ा, 27 मार्च हर साल होली दहन में लाखों पेड़ों के काटने से पर्यावरण को होने वाले नुकसान को देखते हुए इस वर्ष वागड़वासियों ने वैदिक होलिका दहन करने का निर्णय किया है। इसको देखते हुए स्थानीय गोशाला में गोबर के कण्डो और गो काष्ठ से वैदिक होली तैयार की जा रही है जिससे किसी भी तरह से पर्यावरण को नुकसान नहीं होगा।

गोशाला के सचिव भुवन मुकुंद पंड्या ने बताया कि लोगों की इस भावना को देखते हुए गो शाला में गो माता के गोबर के 100 किलो कण्डो, देशी गो माता का 500 ग्राम घी, हवन सामग्री एक किलो, नवग्रह लकड़ी एक किलो, कपूर, नारियल और सप्त धान से एक वैदिक होली सामग्री किट तैयार किया गया है जो आमजन को न्यूनतम दर पर उपलब्ध कराया जा रहा है। वहीं गो माता के गोबर से गो काष्ठ भी तैयार किया गया है जिससे लोगो को लकड़ियों की जरूरत नहीं होगी और पर्यावरण भी खराब नहीं होगा। पंड्या ने बताया कि आमजन में वैदिक होली को लेकर बहुत उत्साहित हैं और सैकड़ों जगहों पर इस साल वैदिक होलिका दहन किया जाएगा।