लखनऊ होकर 24 जून से चलेगी कोलकाता-नंगल डैम स्पेशल ट्रेन

लखनऊ होकर 24 जून से चलेगी कोलकाता-नंगल डैम स्पेशल ट्रेन

-कोलकाता-अमृतसर स्पेशल ट्रेन का संचालन 30 जून से

लखनऊ, 22 जून। रेलवे प्रशासन यात्रियों की सुविधा के लिए लखनऊ होकर 02325 कोलकाता-नंगल डैम स्पेशल ट्रेन का संचालन 24 जून से और 02317 कोलकाता-अमृतसर स्पेशल ट्रेन का संचालन 30 जून से करेगा। इससे यात्रियों को वेटिंग से राहत मिलेगी।

रेलवे प्रशासन के मुताबिक, यात्रियों की मांग को देखते हुए 02317 कोलकाता-अमृतसर स्पेशल ट्रेन का संचालन लखनऊ होकर 30 जून से किया जाएगा, जबकि वापसी में 02318 अमृतसर-कोलकाता स्पेशल ट्रेन का संचालन 02 जुलाई से किया जाएगा। इसी तरह से 02325 कोलकाता-नंगल डैम स्पेशल ट्रेन का संचालन लखनऊ होकर 24 जून से और 02326 नंगल डैम- कोलकाता स्पेशल ट्रेन का संचालन 26 जून से किया जाएगा।

इसके अलावा 02329 सियालदह-आनंद विहार स्पेशल ट्रेन का संचालन 29 जून से होगा। इसी तरह वापसी में 02330 आनंद विहार-सियालदह स्पेशल ट्रेन का संचालन 30 जून से किया जाएगा। इन स्पेशल ट्रेनों के सभी कोच आरक्षित श्रेणी के होंगे। इसमें कन्फर्म टिकट पर ही यात्री सफर कर सकेंगे। यात्रियों के लिए कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन करना अनिवार्य है।

उत्तर प्रदेश से दो लाख से अधिक यात्री 15 दिनों में ट्रेनों से वापस गए

रेलवे प्रशासन ने उत्तर प्रदेश में कोरोना कर्फ्यू हटने के 15 दिनों में ही करीब 80 प्रतिशत ट्रेनों का संचालन शुरू कर दिया है। बहाल हुईं ये ट्रेनें उत्तर प्रदेश से कई राज्यों तक यात्रियों को पहुंचा रही हैं। बीते 15 दिनों में उत्तर प्रदेश के विभिन्न जिलों से दो लाख से अधिक यात्री ट्रेनों से दूसरे राज्यों को वापस लौट गए हैं। यात्रियों की संख्या बढ़ने से मुम्बई, दिल्ली, पंजाब, केरल, राजस्थान की ट्रेनों में लंबी वेटिंग है। रेलवे प्रशासन ने वेंटिंग को देखते हुए कई स्पेशल ट्रेनों का विस्तार किया है। इससे यात्रियों को वेटिंग से राहत मिलेगी।

इन राज्यों के बीच चल रहीं इतनी स्पेशल ट्रेनें

रेलवे प्रशासन के अनुसार, यात्रियों की सुविधा के लिए उत्तर प्रदेश से मुंबई के लिए 14 ट्रेनें, दिल्ली के लिए 52 ट्रेनें, पंजाब के लिए 10 ट्रेनें, राजस्थान के लिए 07 ट्रेनें, केरल के लिए 04 ट्रेनें, चेन्नई के लिए 04 ट्रेनें और हरियाणा के लिए 02 ट्रेनें चलाई जा रही हैं। इन ट्रेनों में लखनऊ सहित प्रदेश के विभिन्न जिलों से चलने और गुजरने वाली ट्रेनें शामिल हैं।